एलियंस आएंगे और नष्ट कर देंगे मानवता को! हॉकिंग ने चेताया था.

एलियंस आएंगे और नष्ट कर देंगे सारी मामविया सभ्यता को. उनके सामने हम मनुष्य बेमतलब और फ़ालतू जिव बन जाएंगे. हम उनकी तकनीक और ताकत का मुकाबला नहीं कर पाएंगे और इस तरह से दुनिया पर उनका साम्राज्य होगा. जेनेटिक इंजीनियरिंग से महामानवों की एक नई नस्ल तैयार होगी जो मानवीय सभ्यता के लिए खतरनाक साबित होगी. महान वैज्ञानिक स्टीफन हॉकिंग ने अपनी मौत से पहले यह चेतावनी दी थी.

 

Third party image reference
ब्रिटिश के प्रसिद्ध लेखक और वैज्ञानिक हॉकिंग ने पूरी दुनिया को डरा देने वाली यह अंतिम भविष्यवाणी की है जो उनके लेखों और निबंधों के अंतिम संस्करण में आएगा. आने वाले कुछ दिनों में प्रकाशित होंगे. स्टीफन हॉकिंग का 76 वर्ष की आयु में इसी वर्ष के मार्च महीने में निधन हो गया था. हॉकिंग के ये अंतिम लेख ‘ब्रीफ ऑन्सर्स टु द बिग क्वेश्चंस’ के नाम से किताब की शक्ल में जल्द ही आएंगे.
एक समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक, हॉकिंग ने अपने इस लेख में लिखा है, ‘एक बार जब ऐसे सुपरह्यूमन आएंगे तो वे दुनिया में जबर्दस्त राजनीतिक समस्याएं पैदा करेंगे और इंसान उनका मुकाबला नहीं कर पाएंगे.’ उनमें खुद को अपनी तकनीक के दम पर बेहतर बनाने की होड़ होगी और वे काफी तेजी से अपने भीतर सुधार करेंगे.

 

Third party image reference
स्टीफेन हॉकिंग का कहना है कि धनी एवं पूंजीपति लोग जल्दी ही खुद में सुधार तो कर ही सकेंगे साथ ही अपने बच्चों के डीएनए में बदलाव कर उन्हें सुपरह्यूमन बना देंगे. इन सुपरह्यूमन के अंदर ज्यादा मेमोरी, रोगों की प्रतिरोध शक्ति, इंटेलीजेंस और ज्यादा उम्र तक जीने की क्षमता होगी.
स्टीफेन हॉकिंग ने लिखा है, ‘मुझे भरोसा है कि इस शताब्दी के दौरान लोग इंटेलीजेंस और आक्रामकता जैसे स्वभाव में बदलाव करने की वैज्ञानिक क्षमता हासिल कर लेंगे. हो सकता है कि मनुष्यों में जेनेटिक इंजीनियरिंग के खिलाफ कई देशों में सरकारी कानून पारित हो जाए, लेकिन मेमोरी, बीमारियों की प्रतिरोधक क्षमता, उम्र बढ़ाने जैसी चीजों के बारे में प्रयास को रोका नहीं जा सकेगा.’

 

Third party image reference
कई साइंटिस्ट ने वैज्ञानिक स्टीफेन हॉकिंग की इस भविष्यवाणी का स्वागत करते हुए कहा है कि उनकी बातों को ध्यान में रखकर हम इन परिस्थितियों से निपटने के लिए अभी से तयारी कर सकते हैं. इससे पृथ्वी को विनाश से बचाया जा सकता है, क्योंकि इससे हम पहले से सचेत हो जाएंगे. एक साइंटिस्ट ने कहा, ‘इस बात के संकेत मिल रहे हैं कि इस ग्रह की चुनौतियों का सामना करने के मामले में व्यक्तिगत या सामूहिक रूप से हमारे दिमाग की एक सीमित क्षमता है.
Advertisements

सूरज को चुने के लिए तैयार नासा का नया अंतरिक्ष यान. पूरी हो चुकी लॉन्चिंग की तयारी.

नमस्कार दोस्तों,
नासा का अंतरिक्ष यान सूरज तक पहुंचने के लिए तैयार है. सूरज के तापमान और वातावरण को टटोलने के उद्देश्य से डेढ़ अरब डॉलर से तैयार नासा के अंतरिक्षयान के लॉन्च होने का काउंटडावन शुरू हो चूका है. ये अंतरिक्षयान 11 अगस्त यानी की शनिवार के दिन लॉन्च किया जाएगा. एक कार के आकार का यह सूर्य मिशन का अंतरिक्ष यान ‘पारकर सोलर प्रोब’ शनिवार तड़के फ्लोरिडा के केप केनवरल से डेल्टा 4 हैवी राकेट के साथ लॉन्च किया जाएगा.

 

Third party image reference
कार के आकार का यह अंतरिक्ष यान सीधे सूर्य के कोरोना का चक्कर लगाएगा. स्थानीय समयानुसार ये ठीक 3 बजकर 33 मिनट पर शुरू हो जाएगा. इस यान को साढे़ चार इंच (11.43 सेंटीमीटर) मोटी ऊष्मा रोधी शील्ड से सुरक्षित किया गया है, जो इसे सूर्य के तापमान से बचाएगी.

 

Third party image reference
इस यान का मुख्य लक्ष्य सूर्य की सतह के आस-पास के असामान्य वातावरण के रहस्यों का पता लगाना है. सूर्य की सतह के ऊपर का क्षेत्र (कोरोना) का तापमान सूर्य की सतह के तापमान से करीब 300 गुना ज्यादा है. इस परियोजना में शामिल वैज्ञानिकों में से एक जस्टिन कास्पर ने कहा है कि पारकर सोलर प्रोब इस बारे में पूर्वानुमान लगाने में बेहतर मददगार साबित होगा कि सौर हवाओं में विचलन कब पृथ्वी को प्रभावित कर सकता है.

 

Third party image reference

पीएम मोदी जीत की दुआ मांगने पहुंचे साईं की शरण में.

Third party image reference
नमस्कार दोस्तों,
भारत के प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी जी, पूरी दुनिया घूमने के बाद अब गए साईं के शरण में. 
शिरडी के साईं को समाधि लिए आज 100 साल पूरे हो रहे हैं. इस मौके पर साईं धाम शिरडी को सजाया गया है. इस पावन अवसर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी साईं के दरबार में अपनी हाजिरी लगाई और वहां विशेष पूजा की.
ऐसा पहली बार नहीं है जब प्रधानमंत्री शिरडी के साईं मंदिर गए हों, इससे पहले भी वो शिरडी जा चुके हैं. आज से 10 साल पहले 2008 में नरेंद्र मोदी ने शिरडी पहुंचकर साईं बाबा की पूजा की थी, उस वक्त वो गुजरात के मुख्यमंत्री थे.साईं समाधि के अवसर पर हो रहे महा समारोह में प्रधानमंत्री शिरडी को कई तरह की सौगातें देंगे. प्रधानमंत्री यहां कई योजनाओं को शुरू करेंगे.
पहला प्रोजक्ट – 40 करोड़ रुपये की लागत से बनने वाले 10 मेगावाट क्षमता के सोलर पावर सिस्टम का भूमि पूजन.
दूसरा प्रोजक्ट – 158 करोड़ रुपये की लागत से बनने वाला हाइटेक एजुकेशनल कंपलेक्स का उद्घाटन करेंगे पीएम मोदी. इस काम्प्लेक्स में स्कूल, कॉलेज, ऑडिटोरियम, प्लेग्राउंड, लाइब्रेरी, लैबोरेट्री समेत अन्य कई तरह की सुविधाएं होंगी.
तीसरा प्रोजक्ट – 166 करोड़ रुपये की लागत से बनने वाला अनोखा साईं नॉलेज पार्क. इसमें साईं की जीवन से जुड़ी जानकारियां, म्यूजियम, थीम पार्क इत्यादि शामिल हैं.
चौथा प्रोजक्ट – शिरडी आने वाले साईं भक्तों को महज 1 घंटे में आरामदायक साईं दर्शन मिले, इसके लिए 112 करोड़ रुपये की लागत का ग्राउंड प्लस टू दर्शन हॉल का निर्माण किया जाएगा. इसकी मदद से एक बार में तकरीबन 18000 साईं भक्त कतार में खड़े होकर आसानी से साईं के दर्शन पा सकेंगगे. इस टर्मिनल को स्काईवॉक से सीधे समाधि मंदिर तक जोड़ा जाएगा.

सानिया मिर्जा का बेटा न भारतीय होगा और न पाकिस्तानी

Third party image reference
नमस्कार दोस्तों,
सानिया मिर्ज़ा ने भारत में दिया अपने बच्चे को जन्म. पाकिस्तान क्रिकेट के पूर्व कप्तान शोएब मलिक सोशल मीडिया पर अपने और टेनिस स्टार सानिया मिर्जा की नागरिकता को लेकर चल रही चर्चाओं पर अपना बयां देते हुए कहा है कि न तो उनका बेटा भारतीय होगा और न ही पाकिस्तानी.
हम आपको बता दें कि सानिया मिर्ज़ा ने हैदराबाद में मंगलवार को अपने बच्चे को जन्म दिया है. बच्चे के जन्म के बाद से सोशल मीडिया पर बच्चे की नागरिकता के बारे में सवाल पूछे जाने लगे हैं. चूंकि बच्चा भारत में पैदा हुआ है और उसकी मां सानिया अब तक भारतीय हैं, इस हिसाब से यह बच्चा खुद ब खुद भारतीय नागरिकता का हकदार है पर शोएब का इस मामले में कुछ और ही कहना है.
पाकिस्तानी समाचार पत्र द एक्सप्रेस ट्रिब्यून ने इस बात की खबर दी. न्यूज़ चैनल ने शोएब के हवाले से कहा है, संभव है कि उनका बेटा किसी अन्य देश की नागरिकता ग्रहण करे. हालांकि शोएब ने यह बात बच्चे के पैदा होने से ठीक पहले लाहौर के गद्दाफी स्टेडियम में पाक मीडिया से बात चित के दौरान कही थी.

 

Third party image reference
छुट्टी लेकर हैदराबाद पहुंचे हैं शोएब 
जब शोएब छुट्टी लेकर भारत पहुंचे तब पाकिस्तान टीम दुबई में आस्ट्रेलिया के खिलाफ टी20 सीरीज खेल रही थी, जो अब खत्म हो गई है. शोएब मलिक सीरीज के बीच में ही पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड से अनुमति लेकर अपनी पत्नी और नवजात शिशु से मिलने भारत में हैदराबाद पहुंचे.
सानिया भारतीय तो शोएब पाकिस्तानी नागरिक
जैसा की हम सभी जानते हैं की सानिया के पति शोएब मलिक पाकिस्तानी क्रिकेटर हैं. उनके पास पाकिस्तानी नागरिकता है. शोएब और शनि की शादी आठ साल पहले हुयी थी. लेकिन इस शादी के बाद भी सानिया ने अपनी भारतीय नागरिकता बरकरार रखी है.
पिछले कुछ समय ये चर्चाएं होती रही हैं कि सानिया मिर्ज़ा अगर अपने बच्चे को हैदराबाद में अपने मायके में जन्म देती हैं तो बेबी की नागरिकता पाकिस्तान की नहीं बल्कि भारत की होगी. सानिया पिछले कई महीनों से प्रेग्नेंसी के बाद से हैदराबाद में ही थीं. वैसे शादी के बाद सानिया और उनके पति पाकिस्तान क्रिकेटर शोएब मलिक ने मिलकर दुबई में एक घर खरीदा है. अपने खेल के बाद मिले छुट्टियों के अधिकतर समय वे दुबई में ही बिताते हैं.

 

Third party image reference
क्या कहते हैं भारत के नागरिकता के प्रावधान
भारत सरकार के नागरिकता के प्रावधान कहते हैं कि अगर कोई बच्चा भारत में पैदा होता है और उसके मां-पिता में एक भारतीय नागरिक हैं, तो माता पिता के चाहने पर वह बच्चा भारतीय नागरिकता का हकदार होगा. पाकिस्तानी मीडिया में शोएब और सानिया के घर आए इस नन्हें मेहमान की खबर को काफी प्रमुखता से दिखाया गया है.
बच्चे का सरनेम मिर्जा मलिक
ट्विटर पर सानिया मिर्जा ने कहा था कि उन्होंने और उनके पति शोएब ने प्लान कर रखा है कि जो बेबी होगा, उसका सरनेम मिर्जा मलिक एक साथ लिखा जाएगा. देखते हैं की अब बच्चे पर किस देश का अधिकार बनता है. वैसे अगर बच्चा ये फैसला ले पाता तो मुझे यकीन है की वह भारत का नागरिक होना ज्यादा पसंद करता. क्योंकि इतिहास गवाह है की जो भी कहीं और से भारत में आया वो भारत का ही हो
के रह गया.

ये बॉलीवुड एक्ट्रेस अपने फिल्म की शूटिंग के वक़्त हो चुकी थी प्रेग्नेंट.

Third party image reference
नमस्कार दोस्तों,
दोस्तों आज मैं आपको बॉलीवुड की ऊन अभिनेत्रियों के बारें में बताने वाला हूँ जो की अपने फिल्मों की शूटिंग के दौरान गर्भवती हो चुकीं थीं. इस लिस्ट में बॉलीवुड की कई मशहूर अभिनेत्रियों का नाम शामिल है. आइए जानते हैं उन अभिनेत्रियों के बारे में.
दोस्तों महिलाओं को हमेशा अपने काम और निजी ज़िन्दगी के बीच में काफी सामंजस्य बैठना पड़ता है और कई बार तो उन्हें अपनी पारिवारिक और निजी ज़िन्दगी के लिए अपने काम के साथ भी समझौता करना पद जाता है और अपना कर्रियर भी दांव पर लगाना पड़ता है. महिलाएं चाहे जिस भी छेत्र में हों उन्हें हमेसा सैक्रिफाइस करना पड़ता है. चाहे वह कोई आम महिला हो या बॉलीवुड की कोई अभिनेत्री. आइये जानते हैं बॉलीवुड की कुछ मशहूर अभिनेत्रियों के बारे में जिन्हे अपनी प्रेगनेंसी की वजह से अपने फिल्म छोड़नी पड़ी थी या और किसी दिक्कतों का सामना करना पड़ा था.
बॉलीवुड की मशहूर और दिग्गज अभिनेत्री जया भादुड़ी बच्चन अपनी फिल्म शोले की शूटिंग के वक़्त प्रेग्नेंट थीं. इसलिए फिल्म के निर्माता को जया बच्चन के सीन की शूटिंग जल्दी करनी पड़ी थी. फिल्म के जिन हिस्सों में जाया बच्चन का का अभिनय फिल्माया जाना था उन हिस्सों की शूटिंग सबसे पहले की गयी थी. 

Third party image reference
बॉलीवुड की बेबो करीना कपूर खान अपनी फिल्म वीरे दी वेडिंग की शूटिंग से पहले ही प्रेग्नेंट हो गई थी. उनकी प्रेगनेंसी की वजह से फिल्म के कुछ हिस्सों की शूटिंग रोकनी पड़ी थी. यही वजह है की इस फिल्म को रिलीज़ करने में काफी वक़्त लग गया था.

Third party image reference
बॉलीवुड की दिवंगत अदाकारा श्रीदेवी अपनी फिल्म जुदाई की शूटिंग के वक़्त प्रेग्नेंट थीं. आपको बता दें की जब उन्हें पता चला की वो प्रेग्नेंट हैं तब उनकी शादी भी नहीं हुयी थी. उनको जैसे ही अपनी प्रेगनेंसी का पता चला तो उन्होंने काफी जल्दबाज़ी में बोनी कपूर से शादी की थी और फटाफट शूटिंग भी ख़त्म कर ली थीं.
 बॉलीवुड की सबसे खूबसूरत अभिनेत्री मानी जाने वाली अभिनेत्री ऐश्वर्या राय बच्चन अपनी इस फिल्म की शूटिंग के वक़्त प्रेग्नेंट थी. जब उन्हें पता चला की वो प्रेग्नेंट हैं तो उन्होंने वह फिल्म छोड़ दी. वो फिल्म हिरोइन थी. ऐश्वर्या के इस फिल्म में काम करने से मना करने के बाद करीना कपूर खान को इस फिल्म के लिए चुना गया. ये फिल्म बॉक्स आॅफिस पर रिलीज होते ही सुपरहिट हुई. अगर ऐश्वर्या प्रेग्नेंट न होतीं तो उन्हें यह फिल्म नहीं छोड़नी पड़ती और वो इस फिल्म का हिस्सा होतीं.

कैसी है हमारी स्टैच्यू ऑफ यूनिटी, एक ही जगह जानिए इस प्रतिमा के बारे में सब

Third party image reference
नमस्कार दोस्तों,
भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदीने बुधवार को सरदार वल्लभ भाई पटेल की 182 मीटर ऊंची प्रतिमा ‘स्टैच्यू ऑफ यूनिटी’ का उद्घाटन किया. यह प्रतिमा दुनिया का इकलौता और सबसे ऊँचा प्रतिमा है. यह प्रतिमा देश के गौरव का प्रतीक है. आपने अमेरिका में ‘स्टैच्यू ऑफ लिबर्टी’ और ऐसी ही कुछ विशालकाय प्रतिमाओं के बारे में जरूर कुछ सुना, देखा और पढ़ा होगा लेकिन, हमारी स्टैच्यू ऑफ यूनिटी या एकता की प्रतिमा, इन सभी प्रतिमाओं से काफी अधिक ऊँचा और भव्य है. यहां ये भी जान लीजिए कि वर्तमान में, स्टैच्यू ऑफ यूनिटी से ऊंची और विशाल दुनिया में कोई प्रतिमा नहीं है. अब इतना पढ़ने के बाद, आपके जेहन में कई सवाल उठ रहे होंगे.
कहां बनी है स्टैच्यू ऑफ यूनिटी
वडोदरा के पास नर्मदा जिले में स्थित सरदार सरोवर के केवाड़िया कॉलोनी गांव में इस स्टेचू को बनाया गया है. यह 182 मीटर ऊंची है और 7 किलोमीटर दूर से ही इसे देखा जा सकता है.
किसने बनाई और कितना खर्च आया?
इस प्रतिमा को सरदार वल्लभ भाई पटेल राष्ट्रीय एकता ट्रस्ट (SVPRET) के द्वारा बनवाया गया है. इस प्रतिमा को बनाने के लिए L &T को जिम्मेदारी दी गयी थी. इस मूर्ति को बनाने में कुल ३५०० करोड़ रुपये खर्च हुए हैं. 
कितनी विशाल
सिर्फ अनुमान लगाइए की सरदार पटेल की प्रतिमा के 6 फीट के इंसान के कद से बड़े होंठ, आंखें और जैकेट के बटन, सात मंजिला इमारत जितना ऊंचा तो सिर्फ उनका चेहरा है. 70 फीट के हाथ और पैरों की ऊंचाई 85 फीट है. इतनी मजबूत कि 220 किमी प्रति घंटे की रफ्तार की हवाओं का भी इस पर कोई असर नहीं होगा.
सरदार साहब के दिल तक जाइए
इस स्टैच्यू के अंदर एक हाईटेक लिफ्ट है. इससे पर्यटक सरदार पटेल के हृदय तक जा सकेंगे. यहां से लोग सरदार सरोवर बांध के अलावा नर्मदा के 17 किमी लंबे तट पर फैली फूलों की घाटी का शानदार नज़ारा देख सकते हैं.
ये हैं दुनिया की सबसे ऊंची प्रतिमाएं

Third party image reference
1) स्टैच्यू ऑफ यूनिटी (भारत): ऊंचाई 182 मीटर
2) स्प्रिंग टेम्पल बुद्ध (चीन): ऊंचाई 153 मीटर
3) यू्शिकु दाईबुत्शु (जापान): ऊंचाई 120 मीटर
4) स्टैच्यू ऑफ लिबर्टी (अमेरिका): ऊंचाई 93 मीटर
5) द मदरलैंड कॉल्स (रूस): ऊंचाई 85 मीटर
6) क्राइस्ट द रीडीमर (ब्राजील): ऊंचाई 38 मीटर
कितने वक्त में तैयार हुई
इस विशालकाय मूर्ति को तैयार करने में पांच साल याने की 60 महीने का वक़्त लगा. आपको ये जानकर भी आश्चर्य होगा कि यह सबसे कम वक्त में बनने वाली दुनिया की विशालतम प्रतिमा भी है. अगर दूसरे नंबर पर आने वाली स्प्रिंग टेम्पल बुद्ध प्रतिमा जो कि चीन में है, उसका जिक्र करें तो उसे बनाने में 90 साल का सबसे लम्बा समय लगा था.

Third party image reference
भूकंप से बेअसर
इस प्रतिमा को भूकंप रोधी तकनीक एवं बेजोड़ इंजीनिरिंग से बनाया गया है. इस पर भरी भूकंप करभी कोई असर नहीं होगा. इसके साथ ही अन्य प्राकृतिक आपदाओं अर्थात तेज़ तूफ़ान या भारी बारिश से यह बेअसर रहेगा. और किसी विस्फोट से भी इसे गिराना काफी मुश्किल होगा.
स्टेचू ऑफ़ यूनिटी क
माध्यम से मोदी जी ने देश को दुनिया की नज़रों में एक सम्मान जनक स्थान दिलाने की कोशिश की है और साथ ही भारत के शांतिप्रिय इतिहास का और पहचान को पूरी दुनिया के सामने रखने की एक बेहतरीन कोशिश की है.

15 हजार में बेस्ट स्मार्टफोन. मोबाइल खरीदने से पहले ये जान लीजिये वरना पछताना पड़ सकता है.

Third party image reference
नमस्कार दोस्तों,
दोस्तों, जैसा की आप सभी जानते हैं की अक्टूबर के लगते ही हिन्दुओं के त्योहारों का सीजन शुरू हो चूका है. त्योहारों की रौनक बाजार में दिख रही है और सभी छोटी बड़ी ब्रांड्स अपने ग्राहकों को आकर्षित करने के लिए लगातार नए प्रोडक्ट और ऑफर्स कंज्यूमर्स के लिए लेकर आ रही हैं. और सबसे ज्यादा हलचल और अपडेशन हमें मोबाइल फोन सेगमेंट में दिख रही है. हर दूसरे दिन एक नया मोबाइल फोन लॉन्च हो रहा है, ऐसे में ग्राहकों का कन्फ्यूज होना स्वाभाविक है, कौन सा फोन खरिदा जाय, गिफ्ट करने के लिए या फिर खुद के लिए. आपकी इस परेशानी को हम अपने इस खबर में दूर करेंगे. हमारी पहली कैटगरी है 15 हजार के अंदर बेस्ट स्मार्टफोन.
रेडमी 6 प्रो 
हमारे लिस्ट में टॉप पर है रेडमी 6 प्रो. इस फ़ोन में 5.8 इंच फुल एचडी+ डिस्प्ले दिया गया है. फोटॉग्रफी के लिए फोन में 12+5 मेगापिक्सल का डुअल रियर कैमरा दिया गया है, इसके साथ ही सेल्फी के लिए 5 मेगापिक्सल का फ्रंट कैमरा है. रेडमी 6 प्रो स्नैपड्रैगन 625 सिस्टम पर काम करता है और ऑपरेटिंग सिस्टम के लिए एंड्रॉयड 8.1 ओरियो पर बेस्ड MIUI 9.6 दिया गया है. इसमें 4 जीबी रैम के साथ 64 जीबी स्टोरेज दिया गया है। रेडमी नोट 6 प्रो 4000 मिली एम्पीयर की बैटरी के साथ आता है और इसकी कीमत 12,999 रुपयो है.
जेनफोन मैक्स प्रो एम1
एसुस के बजट सेगमेंट के खिलाडी जेनफोन मैक्स प्रो एम1 की खासियत है इसकी 5000 मिली एम्पीयर की बैटरी और डुअल रियर कैमरा सेटअप जो की इस प्राइस रेंज किसी और ब्रांड में मिल पाना नामुनकिन है. दमदार बैटरी वाला ये फोन रिवर्स चार्जिंग सपोर्ट करता है यानी इसे पावर बैंक की तरह भी इस्तेमाल किया जासकता है. फोटोग्राफी के लिए फोन में 13+5 मेगापिक्सल का डुअल रियर कैमरा और 8 मेगापिक्सल का ही फ्रंट कैमेरा दिया गया है. 5.9 इंच के फूल hd स्क्रीन डिस्प्ले वाला ये फोन स्टॉक एंड्रॉयड पर काम करेगा. इसमें 4 जीबी रैम के साथ 64 जीबी स्टोरेज दिया गया है. एसुस जेनफोन मैक्स प्रो एम1 मॉडल इस फ़ोन की कीमत है 12,999 रुपये. यह कीमत इसकी फीचर्स के मुकाबले कुछ भी नहीं.
 ऑनर 8एक्स
 इस फोन में 6.5 इंच की फुल एचडी+ डिस्प्ले दी गई है. ये स्मार्टफोन EMUI 8.2 बेस्ड एंड्रॉइड ऑरियो पर काम करता है. इस हैंडसेट में HiSilicon Kirin 710 प्रोसेसर दिया गया है जिसका साथ देती है 4जीबी रैम और 64जीबी स्टोरेज. सेल्फी के लिए इस फोन में 16 मेगापिक्सल का कैमरा है और बैक में 20+2 मेगापिक्सल का डुअल कैमरा सेटअप दिया गया है. इस फोन में 3750 मिली एम्पीयर की दमदार बैटरी दी गई है. ऑनर 8एक्स की कीमत है 14,999 रूपये रखी गयी है. इस कीमत पर ऐसा फीचर्स फ़ोन मिलना बहोत ही फायदे का सौदा होगा.
लेनोवो के9
लेनोवो का लेटेस्ट स्मार्टफोन K-9 का मुख्य फोकस है कैमरा पर. लेनेवो का के9 13 और 5 मेगापिक्सल के डुअल फ्रंट और रियर कैमरा के साथ आता है. इसके अलावा फोन में 5.7 इंच का डिस्प्ले के साथ 3जीबी रैम और 32जीबी स्टोरेज दि गई है. ये फोन काम करता है MediaTek P22 प्रोसेसर पर. लेनोवो K9 की कीमत है 8,999 रुपये. जो एक बेहतरीन स्मार्ट फ़ोन लेने की चाहत रखते हैं पर काम बजट की वजह से खरीद नहीं पाते उनके लिए यह फायदे का सौदा साबित हो सकता है.
मोटो जी6
मोटो जी6 की सबसे अहम खासियत है इसमें दिया गया ग्लास बैक पैनल जो बेहद चमकदार एवं स्टाइलिश है. फोन का लुक अच्छा है और दिखने में ये प्रीमियम लगता है. इस फ़ोन को आपके हाथों में देखकर आपके दोस्तों को आप काफी स्टाइलि
श और रिच नजर आने वाले हैं. मोटो जी6 में 5.7-इंच फुल एचडी+ डिसप्ले 18:9 एस्पेक्ट रेशियो के साथ दिया गया है. साथ ही ये फोन काम करता है स्नैपड्रेगन 450 प्रोसेसर पर और इसका साथ देता है 3जीबी रैम एवं 32जीबी इंटरनल स्टोरेज. मोटो जी6 में पावर बैकअप के लिए 3,000 मिली एम्पीयर बैटरी दी गयी है. साथ ही फिंगरप्रिंट रीडर फ्रंट पर दिया गया है. फोन में 12+5 मेगापिक्सल डुअल कैमरा सेटअप के साथ आता है और सेल्फी के लिए 16 मेगापिक्सल का कैमरा दिया गया है. मोटो G6 की कीमत है 13999 रुपये.
तो दोस्तों उम्मीद करता हूँ की मेरे द्वारा दी गयी यह जानकारी आपको अपना पसंदीदा फ़ोन अपने तय बजट के अंदर खरीदने में काफी मददगार साबित होगा. दोस्तों जाते जाते मुझे फॉलो और कमेंट करना न भूलें, धन्यवाद्.