स्त्री फिल्म ने कमाए अपनी लागत का छः गुना, बटवारे को लेकर आपस भिड़े फिल्म के मेकर्स

stree

यह दुनिया  रीत है की कोई भी असफलता की ज़िम्मेदारी नहीं लेना चाहता पर सफलता के कई दावेदार होते हैं। इस साल सबको चौंकाते हुए बॉक्स ऑफिस पर सुपरहिट होने वाली फिल्मों में स्त्री फिल्म सबसे अव्वल रही । राजकुमार राव और श्रद्धा कपूर स्टारर इस फिल्म का अंत देखकर फिल्मों के शौकीनों को पूरा यकींन हो चला है कि सीक्वल बनेगा। 

अगस्त में रिलीज हुई इस फिल्म की समीक्षाओं तक में इस फिल्म के सीक्वल बनने की बात लिख दी गई थी परंतु इंडस्ट्री के लोग हैरान हैं कि अभी तक सीक्वल की घोषणा नहीं हुई। गॉसिप गलियारों में हो रही चर्चाओं की मानें तो फिल्म की सफलता के श्रेय पर इसके निर्माताओं में आपसी तनाव की स्थिति पनप रही है। stree

स्त्री फिल्म का निर्माण राज और डीके की जोड़ी और दिनेश विजन ने किया था परंतु फिल्म की सफलता का सारा श्रेय पूरी तरह से विजन के नाम लिख दी गई। यह बात राज-डीके को अखर रही है। उन्हें लग रहा है कि फिल्म में उनके निर्माता होने का प्रचार सही ढंग से नहीं किया गया। स्त्री के लेखक भी राज-डीके थे। इसका निर्देशन अमर कौशिक ने किया था। 
चर्चाओं के अनुसार राज-डीके स्त्री की सफलता का पूरा क्रेडिट दिनेश के खाते में जाने से खफा हैं। विजन ने फिल्म की सफलता के तत्काल बाद कह दिया था कि सीक्वल बनेगा। 20 करोड़ के बजट में फिल्म ने 120 करोड़ रुपये से ज्यादा बनाए। बताया जा रहा है कि फिल्म के दोनों निर्माता सीक्वल पर बात तो कर रहे हैं परंतु इससे पहले वह मुनाफे को सही ढंग से बांट लेना चाहते हैं। फिर कुछ ऐसी शर्तों पर भी काम कर रहे हैं, जिससे सीक्वल में प्रचार एकतरफा न हो और लोगों में साफ संदेश जाए कि फिल्म के निर्माता एक नहीं बल्कि दो हैं।stree

स्त्री के तेलुगू में बनाने की तैयारियों की खबर है। राज-डीके इसे तेलुगू में बनाने पर विचार कर रहे हैं। हिंदी की स्क्रिप्ट में आंशिक बदलावों के साथ इसे तेलुगु में बनाया जाएगा। फिल्म का मूल आइडिया तिरुपति के एक गांव की लोक मान्यता से लिया गया था, अत: अब इसे मूल भाषा में लाया जाएगा। राज-डीके को विश्वास है कि तेलुगु दर्शक भी फिल्म देखने आएंगे। तेलुगु में भी निर्देशन की बागडोर वे खुद नहीं संभालेंगे। फिल्म में तेलुगु इंडस्ट्री के सितारों को लिया जाएगा।

Advertisements

ब्रिस्बेन में इन 5 कारणों से हारा भारत, कंगारुओं ने छीनी जीत

ब्रिस्बेन में इन 5 कारणों से हारा भारत, कंगारुओं ने छीनी जीत

ऑस्ट्रेलियाई दौरे पर भारतीय टीम से जिस धुआँधार शुरुआत की उम्मीद की जा रही थी, ठीक उसके विपरीत प्रदर्शन कर विराट  की टीम ने भारतीय क्रिकेट प्रशंसकों को निराश कर दिया. ब्रिस्बेन में मेजबान टीम  ऑस्ट्रेलिया ने रोमांचक टी-20  मैच में भारत को चार रनों से मात दे दी। इस मैच में शुरुआत से लेकर अंत तक टीम इंडिया ने कई गलतियां की जिसके परिणाम स्वरुप भारतीय विराट टीम को इस मैच में हार का सामना करना पड़ा।

आइये ब्रिस्बेन में खेले जाने वाले इस मैच में भारत की हार की वजहों पर एक नज़र डालते हैं….. 


ब्रिस्बेन में इन 5 कारणों से हारा भारत, कंगारुओं ने छीनी जीत

1. डकवर्थ लुइस नियम बानी टीम इंडिया के हार  की पहली वजह.
ब्रिस्बेन टी-20 मैच के दौरान अचानक शुरू हुई बारिश, एक मुख्य  खलनायक की तरह भारतीय टीम की हार की मुख्य वजह बनी। मैच शुरू होने के बाद 16 .1  ओवर में  बारिश शुरू हो गई जिसके कुछ देर बाद मुकाबला एक बार फिर शुरू किया गया लेकिन अंपायरोँ ने इसे 20 ओवरों की जगह 17 ओवरों का कर दिया. जिसमे ऑस्ट्रेलिया की टीम ने 17 ओवरोँ में चार विकेट गवा कर 158 रन बनाये। डकवर्थ लुइस नियम के तहत भारत को जीत के लिए 17 ओवर में 174 रनों का रिवाइज्ड टारगेट मिला। गाबा के मैदान पर भारत के सामने 174 रनों का लक्ष्य बहोत मुश्किल साबित हुआ और भारतीय टीम अपने लक्ष्य के लिए जूझते हुए 17 ओवर में 7 विकेट गवां कर 169 रन ही बना पाई और केवल चार  रन के लिए जीती हुई बाज़ी हार गई। इस तरह ऑस्ट्रेलिया टीम ने डकवर्थ नियम का फायदा लेते हुए यह मैच अपने नाम कर लिया.

ब्रिस्बेन में इन 5 कारणों से हारा भारत, कंगारुओं ने छीनी जीत


2. ग्लेन मैक्सवेल की धुंवाधार  बल्लेबाज़ी. 

ऑस्ट्रेलिया के खिलाडी ग्लेन मैक्सवेल ने अपनी टीम के लिए ताबड़तोड़ बल्लेबाज़ी करते हुए 46 रन बनाये। उन्होंने अपनी पारी में 24 गेंदों का सामना किया और चार छक्के लगाए, जिसमे ग्लेन ने सिर्फ कुणाल पंड्या के एक ओवर में ही लगातार तीन छक्के लगाए। मैक्सवेल की पारी भारतीय टीम के लिए काफी खतरनाक  साबित हुई। ग्लेन मैक्सवेल और मार्क्स स्टोइनिस की पारी के बदौलत ऑस्ट्रेलिया 158 रन तक पहुंच गया और साथ ही थोड़ी बहोत जो कसर बाकी रह गई थी उसे डकवर्थ लुइस ने पूरी कर दी।

ब्रिस्बेन में इन 5 कारणों से हारा भारत, कंगारुओं ने छीनी जीत

3 . रोहित शर्मा का आउट होना :

किसी भी टीम को जब कोई बड़ा लक्ष्य हासिल कारन होता है, तो उसके ओपनिंग बल्लेबाज़ों पर बहुत बड़ी ज़िम्मेदारी होती है। यही वजह है की  पांचवे ही ओवर पर रोहित शर्मा  का आउट हो जाना टीम इंडिया के लिए काफी घातक सिद्ध हुआ। अगर रोहित टिक कर एक बड़ी  पारी खेलते तो नतीजा भारत के पक्ष में हो सकता था।

ब्रिस्बेन में इन 5 कारणों से हारा भारत, कंगारुओं ने छीनी जीत

4. राहुल का नम्बर 3 और कोहली का नम्बर 4 पर उतरना। 


इस मैच में कप्तान विराट कोहली ने  दांव खेला, कोहली खुद नम्बर चार पर बैटिंग करने आये और अपने से पहले राहुल को नम्बर तीन पर भेज दिया। राहुल ने 12 गेंद पर 13 रन बनाय
े और आउट हो गए, इसके बाद जब कोहली नम्बर 4 पर बैटिंग करने आये तो सेट होने से पहले ही वह पॅवेलियन लौट गए। कोहली का यह फैसला टीम  इंडिया पर भारी पड़ गया। अगर कोहली खुद नम्बर तीन पर खेलते हो उन्हें सेट होने के लीये थोड़ा समय मिलता।

ब्रिस्बेन में इन 5 कारणों से हारा भारत, कंगारुओं ने छीनी जीत

5 . .आखरी ओवर में कार्तिक और पंड्या का आउट होना।

मैच काफी रोमांचक मोड़ पर पहुंच  चूका था और आखरी ओवर में भारत  को जीत के लिए तेरह रन चाहिए थे, लेकिन दिनेश कार्तिक और कुणाल पंड्या के रूप में लगातार विकेट गिरने की वजह से भारत जीत से केवल चार रन दूर रह गया। आखरी ओवर में स्टोइनिस ने लगातार तीसरी और चौथी  गेंद पर लगातार क्रमशः पंड्या और कार्तिक को आउट कर इस मैच की जीत को अपने नाम कर लिया।

 

पुरुष हॉकी 2018 : 28 नवंबर को भारत खेलेगा अपना पहला मैच, देखें शेड्यूल

भारत पुरुष हॉकी टीम

 

पुरुष हॉकी विश्वकप 2018 की शुरुआत इसी महीने 28 नवंबर से होने जा रही है , यह वर्ल्डकप टूर्नामेंट 28  नवंबर से शुरू होकर 16 दिसंबर तक चलेगा। ओडिसा में होने वाले इस होके विश्वकप में 16 टीमों के लिए पूल्स और शेडूल का ऐलान कर दिया गया है। मेजबान टीम भारत को पूल सी में रखा गया है, जबकि पाकिस्तान को पूल डी में रखा गया है। इस विश्वकप का फाइनल मैच 16 दिसंबर 2018 को खेला जाएगा। इस मुकाबले का उद्घाटन भुवनेश्वर के कलिंग स्टेडियम में 27 नवंबर को किया जाएगा।  भारत अपना पहला मैच 28 नवंबर को साउथ आफ्रिका के खिलाफ खेलेगा। 

हॉकी विश्वकप का शेडूल बोर्ड


पूल ए: अर्जेन्टीना, न्यूजीलैंड, स्पेन, फ्रांस 
पूल बी: ऑस्ट्रेलिया, इंग्लैंड, आयरलैंड, चीन 
पूल सी: बेल्जियम, भारत, कनाडा, दक्षिण अफ्रीका 
पूल डी: नीदरलैंड, जर्मनी, मलेशिया, पाकिस्तान। 

यहां देखिये कब किसके साथ और किस समय जाएगा मैच 

बुधवार, 28 नवंबर 2018
पूल सी- भारत बनाम दक्षिण अफ्रीका- 7pm
रविवार, 2 दिसंबर 2018
पूल सी- भारत बनाम बेल्जियम- 7pm
शनिवार, 8 दिसंबर 2018
पूल सी- भारत बनाम कनाडा- 7pm
क्वार्टर फाइनल मैच
बुधवार, 12 दिसंबर 2018
गुरुवार, 13 दिसंबर 2018
सेमी फाइनल मैच
शनिवार, 15 दिसंबर 2018
फाइनल मैच
रविवार, 16 दिसंबर 2018

 

पैगंबर हजरत मोहम्मद के जन्मदिवस पर पढ़ें उनके खास उपदेश

Eid-E-Milad 2018: पैगंबर हजरत मोहम्मद के जन्मदिवस पर पढ़ें उनके खास उपदेश

नमस्कार दोस्तों,

दोस्तों आज ईद मुलादुद्दीन नबी याने की  ईदे मिलाद है। आज  इस्लाम के पैगम्बर हजरत मोहम्मद  का जन्म दिन है। पैगम्बर मोहम्मद  के जन्म दिन को ही ईदे मिलाद  के  रूप में मनाया जाता है। इस्लामिक कैलेंडर के मुताबिक इस्लाम के तीसरे महीने रबी-अल-अव्वल की १२वी तारीख, 571ई. के दिन ही इस्लाम के सबसे  महान नबी और आखरी पैगम्बर का जन्म हुआ था. जो अंग्रेजी कैलेंडर  के अनुसार 2018 में 21 नवंबर को है। उनकी जन्म की खुशी में मुस्लिम, मस्जिदों में नमाज़ अदा करते हैं। रात भर मोहम्मद को याद करके इबादत करते हैं और जुलूस निकालते हैं। इसके साथ ही पैगंम्बर मोहम्मद की दी गई शिक्षाओं और पैगामों को पढ़ा जाता है। पैगम्बर हज़रात मोहम्मद ने ही इस्लाम धर्म की पवित्र किताब कुरान  शिक्षाओं का  उपदेश दिया था।

आइये उनके  जन्म दिवस और ईद मीलउद्दीन नबी के इस पाक अवसर पर उनके द्वारा दी गई कुछ महान उपदेशों को पढ़ें।

1. सबसे अच्छा आदमी वही है जिससे मानवता की भलाई होती है। 
2. जो ज्ञान का आदर करता है वह मेरा आदर करता है। 
3. विद्वान के कलम की स्याही शहीद के खून से ज्यादा  पाक है। 
4. अत्यधिक ज्ञान अत्यधिक इबादत से बेहतर है। 
5. अज्ञानियों के बीच ज्ञान को ढूंढने वाला वैसा ही है जैसे मुर्दों के बीच ज़िंदा। 
6. ज्ञानियों के साथ बैठना भी इबादत है। 
7. मज़दूर का नेहनताना उसके पसीने के सूखने से पहले मिल  चाहिए। 
8. वह आदमी जन्नत में दाखिल नहीं हो सकता जिसके दिल में घम्मंड का एक कण भी मौजूद है। 
9. जिसके पास एक दिन और एक रात का भोजन हो उसे भीख नहीं मांगना चाहिए। 
10 . सबसे अच्छा  मुसलमान घर वह है जहां यतीम पलता है, और सबसे बुरा मुसलमान  घर वह है  यतीम           पर ज़ुल्म होता है। 
11 . भूखे को खाना दो, बीमार की देखभाल करो अगर कोई अनुचित रूप से बंदी बनाया गया है तो उसे मुक्त           करो आफत के मारे प्रत्येक व्यक्ति की सहायता करो भले ही वह मुसलमान हो या गैर मुस्लिम।
12 . जो ज्ञान की खोज में घर-बार छोड़ देता है वह अल्लाह के रास्ते पर चलता है यहां तक के वह वापस लौटे।

भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच ब्रिस्बेन में आज टी20 सीरीज का पहला मुकाबला खेला जा रहा है। इस मैच के ताजा स्कोर व लाइव अपडेट्स के लिए यहां जुड़े रहिए।

India vs Australia 1st T20 LIVEनमस्कार  दोस्तों,

टी-20 सीरीज का पहला मुकाबला आज भारत और आस्ट्रेलिया के बीच गाबा मैदान में खेला जा रहा है। इस खेल के साथ ही आज भारत के ऑस्ट्रेलिया दौरे का आगाज भी हो  गया है।  विराट कोहली के मार्गदर्शन के साथ आज भारतीय क्रिकेट टीम, एक नया इतिहास रचने के इरादे से  गाबा मैदान पर उतरेगी। टीम इंडिया अगर आज पहले टी-20  मैच में अपनी जीत दर्ज़ कराने में कामयाब हो जाती है तो यह आस्ट्रेलिया के जमीन पर भारतीय क्रिकेट टीम की लगातार पांचवी जीत होगी।  जो की इससे पहले कोई अन्य देश की टीम ऐसा नहीं कर पाई. भारत ने इससे पहले 2012 में ऑस्ट्रेलिया दौरे पर टी-20 सीरीज का अंतिम मैच जबकि 2015 -16  के ऑस्ट्रेलिया दौरे पर टी-२० सीरीज के तीनो मैच जीते थे. इन पुराने आंकड़ों को देखते हुए विराट कोहली की अगुआई में भारतीय टीम का हौसला काफी बुलंद नज़र आ रहा है।  इसके विपरीत आस्ट्रेलिया की टीम को हाल ही में दक्षिण आफ्रिका के खिलाफ खेले गए मैच में काफी शर्मनाक हार का सामना करना पड़ा है।  जिस वजह से ऑस्ट्रेलिया टीम के कप्तान आरोन फिंच काफी चिंतित नज़र आ रहे हैं।
इस मैच के ताज़ा अपडेट के मुताबिक भारत ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाज़ी करने का फैसला लिया है।  मंगलवार को जारी बारह सदस्यीय टीम में यजुवेंद्र चहल को अंतिम एकादश में शामिल होने का मौका नहीं मिला है। वहीँ ऑस्ट्रेलिया ने दक्षिण आफ्रिका के खिलाफ खेले एक मात्र टी-20 मैच  की टीम में बदलाव किया है।
टॉस हारने के  बाद पहले बल्लेबाज़ी करने उतरी ऑस्ट्रेलियाई टीम के लिए ओपनर के रूप में कप्तान आरोन  फिंच  और डी आर्कि शार्ट, मैदान पर उतरे। खबर लिखे जाने  तक ऑस्ट्रेलिया ने 16.1 ओवर में 3 विकेट खोकर 153 रन बना लिए हैं।  मैक्सवेल 23 गेंद में 46* रन और मार्क स्टाइनिस 18 गेंद में 31 रन बनाकर खेल रहे हैं।
दोनों खिलाडियों के बीच चौथे विकेट के लिए 36 गेंद में 78* रनों की साझेदारी हो गई है। ऑस्ट्रेलिआ ने 7.3 ओवर में अपने 50 रन पुरे किए। इसके बाद ऑस्ट्रेलिया ने अपने 12. 5 ओवर में अपने 100 रन के आंकड़े को पार किया। मौसम में आई खराबी के चलते हो रही बारिश ने खेल में विराम लगा दिया है।  इसी गाबा मैदान पर दक्षिण आफ्रिका और ऑस्ट्रेलिया के बीच खेले गए मैच को भी बारिश के ही कारण 10-10 ओवर का कर दिया गया था.
मैक्सवेल ने छुड़ाए कुणाल के छक्के 
 
ग्लैन मैक्सवेल ने कुणाल पंड्या के एक ओवर में लगातार तीन छक्के जड़े ।  उन्होंने 14 वे ओवर की दूसरी, तीसरी और चौथी गेंद पर कुणाल की गेंद को सीधे बाउंड्री के पार पहुँचा  दिया। इस ओवर में उन्होंने 23 रन बनाये. इस दौरान उन्होंने स्टेनिस के साथ 22 गेंदों में ५० रन की साझेदारी भी चौथे विकेट के लिए पूरी की।
कुलदीप ने कंगारुओं को दिए दोहरे झटके।  
 
कुलदीप ने ऑस्ट्रेलिया को बड़े स्कोर की तरफ ले जा रहे कप्तान आरोन फिंच और क्रिस लीन  का शिकार किया। पहले तो उन्होंने नौवें ओवर की तीसरी गेंद पर बैकवर्ड पॉइंट पर खलील के हाथों फिंच को लपकवाया और फिर ग्यारहवें ओवर की पहली गेंद पर क्रिसलिन को पवेलियन पंहुचा दिया. लीन कुलदीप को फॉलो थ्रो पर कैच दे बैठे। उन्होंने उन्नीस गेंद पर सैतीस रन बनाये।
खलील के एक ओवर में जड़े तीन छक्के
 
आईपीएल में केकेआर के लिए खेलने वाले क्रिसलिन ने पारी के आठवें ओवर में खलील अहमद के एक ओवर में तीन छक्के जडे। उन्होंने इस ओवर में कुल इक्कीस रन बनाये।
खलील ने दिलाई पहली सफलता. 
 
 पहली बार ऑस्ट्रेलिया  दौरे पर गए युवा गेंदबाज खलील अहमद ने भारत को अपनी पहली ही गेंद पर सफलता दिलाई। आर्की शार्ट छक्का मारने के प्रयास में कुलदीप के हाथों लप
के गए।  उन्होंने केवल ७ रन ही बनाये। पहले विकेट के लिए उन्होंने कप्तान फिंच के साथ 25 गेंद में 24 रन की साझेदारी की। अगर बुमराह की गेंद पर कवर पर विराट कोहली ने ऐरोन फिंच का कैच न छोड़ा होता तो यह साझेदारी पहले ही टूट जाती।

बिना आई लव यू बोले, उनको हो जायेगा आपके प्यार का अहसास

नमस्कार दोस्तों,

 

Third party image reference
दोस्तों प्यार एक ऐसा एहसास है जिसे लब्ज़ों में बयां नहीं किया जा सकता इसे केवल महसूस किया जा सकता है। प्यार को केवल वही समझ सकता है जिसने कभी प्यार किया हो।
दोस्तों यदि आपको किसी से प्यार है और आप जिससे प्यार करते है वो आपके प्यार से अनजान है तो मै समझ सकता हूँ कि कितनी तकलीफ होती है, ऐसे में ९० प्रतिशत लोग अपने दिल की बात बताने के लिए सबसे आसान तरीका आजमाते है और वह है आई लव यू बोलकर प्रपोज़ करना. पर दोस्तों प्यार जीवन का सबसे कीमती और यादगार अहसास है इसे यूँ सिंपल और पुराने तरीके से व्यक्त करके आप स्वयं इस अहसास का महत्व अपने जीवन में घटा देते हैं।
दोस्तों आजकल की लड़की या लड़का अपनी जीवन के हर सुखद अनुभव को यादगार बनाना चाहती है और आई लव यू बोलकर प्रपोज़ करना बहोत पुराना हो चूका है। दूसरी बात यह है की हम जिससे प्यार करते है उसके सामने प्रपोज़ करने की हिम्मत हर कोई नहीं जुटा पाता,
दोस्तों जैसा की मैंने पहले कहा की प्यार कहने की नहीं महसूस करने की चीज़ है। इसलिए बेहतर तरीका भी यही है की आप जिससे प्यार करते हैं वह खुद आपके प्यार को महसूस करे. तो आगे मै जो तरीका बताने जा रहा हूँ यदि आपने उसे आजमा लिया तो आपका प्यार खुद सामने से आपको प्रपोज़ करेगा। चाहे आप लड़का हों या लड़की यह तरीका आपके प्यार को आपके करीब ले आएगा ये मेरी ग्यारंटी है।
दोस्तों इस वीडियो को अंत तक देखिये और बताये गए तरीके को आजमाइए।

 

love shayari

मोदीजी का ये रूप आपने पहले कभी नहीं देखा होगा

Third party image reference
नमस्कार दोस्तों,
दोस्तों आज मै इस पोस्ट के जरिये आप सभी से हमारे पीएम श्री नरेंद्र मोदी जी की कुछ मनोरंजक जानकारियां शेयर कर रहा हूँ उम्मीद करता हूँ की आप सभी को बहोत पसंद आएगा. दोस्तों आजादी के बाद से लेकर अब तक हमारे देश में जितने भी पीएम हमारे देश में हुए उनमे से मोदी जी ही एक मात्र ऐसे पीएम हैं जो हमेसा सुर्ख़ियों में बने रहते है , आज भारत देश के हर घर में सुबह उठते ही सबसे पहले लोग न्यूज़ देखते या पढ़ते हैं की आज मोदी जी ने कौन सी नयी योजना पेश की है, या आज किस देश के दौरे पर गए हैं।
दोस्तों उनकी ख्याति पर यह कहना मुश्किल है की उनके प्रशंशक ज्यादा हैं या आलोचक पर वो अबतक के सबसे चर्चित प्रधान मंत्री है इस बात पर कोई शक वही। उनकी इस ख्याति के लिए सबसे बड़ा श्रेय मीडिया को जाता है , चाहे वह सोशल मीडिया हो या प्रिंट या इलेक्ट्रॉनिक मीडिया , पर मीडिया के महत्व को मोदी जी से बेहतर कोई और न तो समझ पाया और न ही उनके जैसा लाभ उठा पाया।
मै यह दावे के साथ कह सकता हूँ की यदि कोई आजाद मीडिया, जनता के बीच जाकर सर्वे करे तो उन्हें पता चलेगा की जनता को पिछले चार साल से यह लगा ही नहीं की चुनाव ख़त्म हो चूका है , उनका स्वयं गुणगान बिछले चार सालों से बदस्तूर जारी है।
दोस्तों मै छत्तीसगढ़ के एक छोटे से गांव का निवासी हूँ और मै यह देखकर बहोत आश्चर्य चकित होता हूँ की मोदी जी आपने प्रचार के लिए किसी गांव और कस्बे तक को नहीं छोड़े है। दोस्तों अगर आप में से कोई गांव का निवासी हो तो सायद उन्हें पता होगा की गांव में साप्ताहिक बाजार अर्थात सब्जी मंडी लगती है और लगभग हर सप्ताह मोदी जी की प्रचार करने वाली एक बड़ी सी प्रोजेक्टर व्हीकल गांव के बाजार पे आकर खड़ी हो जाती है और लगभग ४५ मिनट तक मोदी जी और भाजपा का गुणगान करती है। जबसे मोदी जी पीएम बने है तबसे अब तक यह प्रचार हो रहा है। इससे पहले किसी भी सरकार ने यहाँ तक की खुद भाजपा की सरकार ने भी ऐसा कभी नहीं किया था.
उनकी इन्ही कार्यों से उनके आलोचक कभी कभी कुछ ऐसे पोस्ट कर देते जिन्हे देखकर आप ठहाके लगाए बिना नहीं रह सकते। अगर यकीं न हो तो आप नीचे दी गयी वीडियो में खुद ही देखलीजिये ।

 

modi parodi
दोस्तों मेरे द्वारा दी गयी यह जानकारी आपको कैसी लगी निचे कमेंट करके बताएं. धन्यवाद्