कोहली की यह विराट गलती पद सकती है टीम इंडिया पर भारी।

Third party image reference

नमस्कार दोस्तों,

पर्थ:  दोस्तों जैसा की आप सब जानते हैं की पर्थ में भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच दूसरा टेस्ट मैच खेला जा रहा है। पर इस खेल के पहले ही दिन जो हुआ उसे स्वाभाविक नहीं कहा जा सकता। ऑस्ट्रेलिया और इंडिया के बीच दूसरे टेस्ट मैच के पहले दिन, शुरुवाती शत्र के खेल के बाद दिखाई पड़ रहा है कि भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली और कोच रवि शास्त्री इस मैच में एक बड़ी भूल कर बैठे। यह गलती भारतीय टीम का कितना बड़ा नुक्सान कर सकती है यह तो वक़्त ही बताएगा। लेकिन गलती का विराट रूप साफ तौर पर दिखाई पड़ रहा है। अब इस गलती को सुधारना भी भारतीय क्रिकेट टीम के लिए किसी बड़ी चुनौती से काम नहीं है। अब देखना यह है की टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली और कोच रवि शास्त्री मिलकर इस समस्या का कोई समाधान निकाल बाटे हैं या नहीं। पर अभी तक की कोशिशों के बाद भी इस समस्या का कोई समाधान नहीं मिल पा रहा।

देखो! 2018 की अबतक की सबसे चमकदार जेमिनेड उल्का पात आज रात।

Third party image reference

 पर्थ में टॉस जीतने के बाद ऑस्ट्रेलिया के बल्लेबाज़ों ने अपनी टीम को एक मज़बूत शुरुवात देने में कामयाबी हासिल की। ऑस्ट्रेलिआई ओपनर्स फिंच और हैरिस, खेल के शुरुवात से ही आत्मविश्वास से भरे हुए और दृढ़निश्चयी दिखाई पद रहे थे। खेल में बीतते समय के साथ बेहतर प्रदर्शन और साझेदारी से उनका आत्मबल और अधिक बढ़ता गया। उन्होंने अपने खेल प्रदर्शन से यह साबित कर दिया की यह मैच भारतीय टीम के लिए एक बड़ी चुनौती होने जा रही है। विराट ने इस खेल में कई बार गेंदबाज़ों की बदली की लेकिन गेंदबाज़ों की बदली का ऑस्ट्रेलियाई ओपनर्स पर कुछ खास फर्क नहीं पड़ा उन्होंने खेल पर अपना नियंत्रण बनाये रखा। ऐसे में अब भारतीय टीम के लिए ओपनर्स की साझेदारी को तोडना भी एक बड़ी चुनौती साबित हो रही है।

नेता प्रतिपक्ष के लिए भारतीय जनता पार्टी ने बृजमोहन अग्रवाल को किया आगे।

मैच शुरू होनी से पहले ही भारत ने अपने 13 सदस्यों वाली टीम की घोषणा कर दी थी। यह पूरी तरह से साफ़ था की रोहित शर्मा की जगह अनुमा विहारी खेलेंगे। पर यह साफ़ नहीं था की अश्विन के स्थान पर कौन खेलेगा। पर जब टीम का ऐलान किया गया तो यह एक बड़ी चर्चा का विषय बन गई। मैच के शुरुवात में भले ही विराट के इस फैसले का सभी ने समर्थन किया हो पर जैसे ही मैच आगे बढ़ा तो यह साफ़ हो गया की कप्तान विराट कोहली और टीम मैनेजमेंट से बड़ी चूक हो गई है। विराट कोहली ने इस मैच में चार तेज़ गेंदबाज़ों को जगह दी। आर अश्विन की जगह उमेश यादव को टीम में लाया गया लेकिन वह ओपनरों की साझेदारी और रन बटोरने की गति को रोकने में नाकाम रहा।

वनडे और टेस्ट क्रिकेट में बनने वाले बेहतरीन रिकार्ड्स और उससे जुड़ी यादें।

 मैच के आगे बढ़ते यह भी साफ़ हो गया की पिच पर छोड़ी गई घास की वजह से बोल को स्विंग करने में बोलरों को दिक्कत हो रही है। साथ ही पर्थ की पिच पारम्परिक गति और उछाल के लिए भी उचित योग्यता नहीं रखता। पिच पर गेंद रुक कर आ रही है। इससे यह साफ़ होता गया की दूसरे टेस्ट में भारत को स्पिनर्स की कमी खलने वाली है। अब यह सुनने में आ रहा है की टीम के सेलेक्टर्स को इस बात बात का अहसास होने लगा है की आर अश्विन की जगह रविंद्र जडेजा या किसी अन्य विशेषज्ञ स्पिनर को न चुनकर उन्होंने बड़ी गलती कर दी है।

और भी अधिक ताज़ा खबरों के लिए हमें फॉलो / सब्सक्राइब करना न भूलें, धन्यवाद्। 

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s