2019 लोकसभा चुनाव : जानिये किसकी बनेगी सरकार।

Third party image reference

 

नमस्कार दोस्तों,

दोस्तों, 2019 में देश के राजनीतिज्ञों की बोर्ड परीक्षा है। बस कुछ ही महीने शेष रह गए हैं लोकसभा चुनाव के लिए। 2014 में मिले पूर्ण बहुमत की जीत से भारतीय जनता पार्टी का आत्मविश्वास भले ही सातवें आसमान पर प्रतीत हो रही है पर देश की जनता का मूड़ बदलते देर नहीं लगती। अपने अति आत्मविश्वास के चलते तीन राज्यों में अपनी सत्ता गवां चुकी भारतीय जनता पार्टी अब अपना हर कदम काफी सोच समझकर उठा रही है। भारतीय जनता पार्टी ने आने वाले लोकसभा चुनाव की तयारी के लिए अपनी कमर कस ली है।

सिम्बा मूवी रिव्यू : जानिये फर्स्ट डे फर्स्ट शो देखने वाले दर्शकों की राय।

भारतीय जनता पार्टी ने ‘नेशन विद नमो’ और ‘पहला वोट मोदी के नाम’ इन दो अभियानो के जरिये युवाओं एवं पहली बार अपने वोट डालने वाले किशोरों पर निशाना साधने की पूरी तैयारी कर ली है। भाजपा के प्रवक्ता संबित पात्रा ने कहा की भाजपा मंत्र सबका साथ सबका विकास है और हम इसी अजेंडे के साथ आगे बढ़ते हुए देश के युवाओं, गरीबों, महिलाओं, दलितों और सैनिकों सभी के विकास को अपनी प्राथमिकता बनाते हुए देश की जनता से देश के विकास के लिए एकबार फिर से मोदी जी और भारतीय जनता पार्टी को को पूर्ण बहुमत देने की अपील करेंगे।

2019 विधानसभा चुनाव को लेकर सभी राजनितिक दलों में मची सियासी हलचल के बीच महागठबंधन पर भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा का विवादित बयान भी सामने आया है। संबित पात्रा जी का कहना है की विपक्ष महागठबंधन से देश को तोड़ने की साजिश कर रही है। संबित पात्रा अपने इस विवाद में एक कदम और आगे बढ़ते हुए यह तक कह रहे हैं की इस महागठबंधन में विपक्ष के साथ पकिस्तान भी लिप्त है। वहीँ संबित पात्रा के इस बयान को विपक्ष ने बीजेपी को तीन राज्यों में मिली हार का साइड इफ़ेक्ट बताया है।

क्रिकेट न्यूज़ : जानिए भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच हो रहे टेस्ट मैच के चौथे दिन का हाल।

आइये जानते हैं किन मुद्दों पर टिकी होगी 2019 लोकसभा चुनाव की जीत। 

1 . अयोध्या राम मंदिर 

Third party image reference

भारतीय जनता पार्टी अपने शासन के लगभग पुरे कार्यकाल में सबसे अधिक जोर अगर किसी मुद्दे पर दिया है तो वह है हिंदुत्व और अयोध्या राम मंदिर। भाजपा का मंदिर हम ही बनाएंगे के नारे से पूरा हिन्दू समाज भाजपा की और झुक सा गया था अब बीजेपी का यही नारा उसके लिए 2019 लोकसभा चुनाव का सबसे बड़ा सिरदर्द बना हुआ है। अभी तक अयोध्या राम मंदिर पर कुछ भी एकपक्षीय फैसला नहीं आ पाया है और फैसला सुप्रीम कोर्ट में लंबित है। अब देखना यह है की बीजेपी वोट की राजनीति के लिए कोर्ट के खिलाफ जाकर राम मंदिर के लिए अध्यादेश लाती है या कोर्ट के फैसले पर चलकर जनता की नज़रों में झूठा साबित होती है।

2018 को कीजिये अलविदा और स्वागत कीजिये 2019 का। जानिये साल की पांच बड़ी घटनाएं।

2. दलित और मुस्लिम वोट बैंक 

Third party image reference

मोदी सरकार और भारतीय जनता पार्टी ने सत्ता में आने के बाद से अपने फैसलों और बयानों से लगातार दलित और मुश्लिम समाज को आहत किया है। ऐसे में देखना यह होगा की बीजेपी इन दलित और मुश्लिम अल्पसंख्यकों की नाराज़गी कैसे दूर करते हैं और किस प्रकार एक बड़ा वोट बैंक अपने हाथों से छीनने से बचा पाते हैं।

बॉलीवुड की ये पांच फ़िल्में रखती हैं मुर्दादिल इंसान को भी ज़िंदा करने की ताकत।

3. रोजगार 

Third party image reference

 

साल 2014 में मोदी सरकार यदि सत्ता में आ पाई तो इसका पूरा श्रेय देश की युवा पीढ़ी को जाता है जो की मोदी जी के द्वारा दिखाए गए डिजिटल इंडिया के सपनों में अपना भविष्य देखकर उनके झांसे में आ गए और उन्हें वोट दे बैठे। पर सत्ता में आने के बाद मोदी जी ने सबसे बड़ा मजाक और विश्वासघात इस देश की बेरोजगार युवा पीढ़ी के साथ किया है। रोजगार के नाम पर पकोड़े बेचने की सलाह देने वाले मोदी जी को देश की युवा माफ़ या नहीं यह भी 2019 के लोकसभा चुनाव से ही पता चलेगा। यह आश्चर्य की बात है की सत्ता के कार्यकाल की समाप्ति का वक्त निकट आने के बाद भी मोदी जी ने देश के युवाओं के हित में अब तक कोई भी योजना नहीं बनाई और न ही रोजगार की व्यवस्था की।

सलमान खान की वांटेड गर्ल आइशा टाकिया का प्रियंका निक जोनस की रिसेप्शन में दिखा जल्वा।

4 . राफेल डील

Third party image reference

देश की सेना का शक्ति वर्धन करने के लिए केंद्र द्वारा किये गए राफेल विमान सौदे में गड़बड़ी की बात कहते हुए सभी विपक्षी दलों सहित कांग्रेस ने मोदी सरकार पर एक बड़े भ्रस्टाचार में लिप्त होने और देश की जनता के पैसों एवं सैनिकों की सुरक्षा के साथ खिलवाड़ करने का बड़ा आरोप लगाया है। हलाकि सुप्रीम कोर्ट ने भारतीय जनता पार्टी को इस मामले में क्लीन चिट दे दी है पर खुद बीजेपी ने सुप्रीम कोर्ट के फैसले की कुछ बिंदुओं पर संसोधन की मांग करके शक की सुई एकबार फिर अपनी और घुमा ली है। अब देखते हैं की कांग्रेस इस मुद्दे को और कितना भुना पाती है।

बॉक्स ऑफिस पर फिल्म “zero” को दर्शकों ने दिया जीरो “0” मार्क्स।

दोस्तों यदि आपने अभी तक इस न्यूज़ को फॉलो नहीं किया है तो जल्द ही कर दें ताकि इसी तरह की हर जरुरी खबर आपके मोबाइल पर पहुंच सके, धन्यवाद्। 

सिम्बा मूवी रिव्यू : जानिये फर्स्ट डे फर्स्ट शो देखने वाले दर्शकों की राय।

simmbaनमस्कार दोस्तों,

दोस्तों, सिनेमा इंसान के मनोरंजन का सबसे बड़ा साधन बन चुकी है। अगर मै पुछूं की सिनेमा के शौकीनों को एक फिल्म में किन ख़ास चीजों की तलाश होती है तो शायद आप में से अधिकतर लोग यही जवाब देंगे की फिल्म में बेहतर डांस, एक्शन, बेहतर कॉमेडी तो कुछ लोगों को बेहतर स्टोरी, रोमांस और एक जाबाज़ हीरो  देखना चाहते हैं जो एक साथ 20 – 25 खलनायकों की धुलाई कर सके। ‘सिम्बा’ दर्शकों की इन सारी मांगों को पूरा करता है।सिम्बा ठीक वैसी ही मूवी है जैसी की हम रोहित शेट्टी की फिल्मों से उम्मीद करते हैं। यह टिपिकल रोहित शेट्टी स्टाइल मूवी है।  यह फिल्म उन दर्शकों को बिलकुल भी निराश नहीं करेगी जो की एक मनोरंजक फिल्म देखना चाहते हैं। पर जो इस फिल्म में अपनी इंटेलिजेंस घुसाएँगे अर्थात जो दिमाग लगाकर फिल्म देखेंगे उन्हें इस फिल्म से निराशा ही हाँथ लगेगी।

क्रिकेट न्यूज़ : जानिए भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच हो रहे टेस्ट मैच के चौथे दिन का हाल।

simmba

फिल्म की कहानी में कुछ भी नया नहीं है यह ठीक वैसी ही मूवी है जिसमे एक भ्रष्ट पुलिस अफसर अपने साथ हुए किसी हादसे के बाद एक ईमानदार पुलिस अफसर बनने की कोशिश करता है और अपनी ड्यूटी निभाते निभाते जनता की की सेवा करते हुए अपने सभी पुराने पांप धोना चाहता है। फिल्म का नायक सिम्बा उर्फ़ भालेराव ( रणवीर सिंह )एक अनाथ लड़का है जिसने अपने बचपन से यह सीखा की इस दुनिया में यदि पैसा कमाना है तो उसके लिए पावर होना बहोत जरुरी है। यही वजह है की वह पुलिस अफसर बनाना चाहता है ताकि पुलिस की पावर का इस्तेमाल करके भ्रष्ट तरीके से ढेर सारा पैसा कमा सके। नाईट स्कूल में पढ़-लिखकर  सिम्बा एक भ्रष्ट पुलिस अफसर  बन जाता है जो की बेईमानी भी पूरी ईमानदारी से करता है।

2018 को कीजिये अलविदा और स्वागत कीजिये 2019 का। जानिये साल की पांच बड़ी घटनाएं।

वर्दी पहनकर जब वह काम पर निकलता है तो उसके दिमाग में केवल एक ही लक्ष्य होता है की चाहे तरीका कोई भी हो पर पैसे ढेर सारे कमाना है। पैसे कमाने के इसी जूनून के साथ उसका तबादला गोवा में हो जाता है। सिम्बा को अपने इस तबादले से बहोत खुशी होती है की गोवा जैसे शहर में वह क्रिमिनलों से ढेर सारा पैसा कमा सकता है। पर यहां हुए एक हादसे से उसकी पूरी ज़िन्दगी और जीने का नज़रिया दोनों ही बदल जाता है।

simmba

गोवा पहुंचकर सिम्बा की मुलाक़ात फिल्म की नायिका शगुन (सारा अली खान ) से हो जाती है। शगुन  भी सिम्बा की ही तरह अनाथ है और अपनी आजीविका के लिए केटरिंग का काम करती है। दोनों के बीच प्यार हो जाता है। यहाँ उसे आकृति नाम की एक मुँह बोली बहन भी मिलती है और ईमानदार पुलिस वाले के रूप में दो साथी भी। ईमानदार हेड कांस्टेबल मोहिते ( आशुतोष राणा)  और संतोष तावड़े ( सिद्धार्थ जाधव ) इस फिल्म में एक ईमानदार पुलिस अफसर और सिम्बा के अच्छे दोस्त के किरदार में नज़र आ रहे हैं। इन सभी के साथ रहते हुए  सिम्बा को परिवार का अहसास होता है और एक इंसान के लिए परिवार की अहमियत समझ में आती है।  साथ सिम्बा का सामना गोवा के सबसे बड़े डॉन धुर्वा रानाडे ( सोनू सूद ) से होता है। धुर्वा रानाडे एक फैमिली में रहते हुए भी हर तरह के अवैध कारोबार में लिप्त है। क्योंकि सिम्बा एक भ्रष्ट पुलिस अफसर है इसलिए ध्रुवा रानाडे सिम्बा का मुँह पैसों से बंद कर देता है और अपना हर कारोबार निडर होकर चलाता है। पर फिल्म की कहानी में तब ट्विस्ट आता है जब सिम्बा की मुँहबोली बहन आकृति के साथ दुराचार करके उसकी बेरहमी से हत्या कर दी जाती है। अगर मैं आपको फिल्म की पूरी कहानी बता दूंगा तो आपको  फिल्म देखने में मज़ा नहीं आएगा। तो फिल्म देखिये और जानिये की आगे क्या होता है इस फिल्म में।

बॉलीवुड की ये पांच फ़िल्में रखती हैं मुर्दादिल इंसान को भी ज़िंदा करने की ताकत।

इस न्यूज़ को फॉलो करना न भूलें धन्यवाद्। 

क्रिकेट न्यूज़ : जानिए भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच हो रहे टेस्ट मैच के चौथे दिन का हाल।

Image result for australia vs india chautha dinनमस्कार दोस्तों,

दोस्तों, मेलबर्न में भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच एमसीजी के ऐतिहासिक मैदान में खेले जा रहे बॉक्सिंग डे टेस्ट मैच के चौथे दिन का मुकाबला बड़ा ही शानदार रहा। टेस्ट के चौथे दिन भारतीय क्रिकेट टीम अपनी जीत से केवल 2 विकेट ही दूर रह गई है। ऑस्ट्रेलिआई गेंदबाज़ पैट कमिंस ने भारत को इस ऐतिहासिक जीत तक पहुंचने से रोके रखा है। कमिंस ने भारतीय टीम की दूसरी पारी में छः विकेट उड़ा दिए और अब बल्लेबाज़ी में भी भारतीय खिलाड़ियों को कड़ी टक्कर दे रहा है। उन्होंने आठवें और नौवें विकेट के लिए मिचेल स्टार्क और नाथन लायन के साथ बढ़िया साझेदारी करते हुए मिचेल के साथ 39 और नाथन के साथ 43* रन बनाए।  इस तरह उन्होंने भारतीय टीम को जीत हासिल करने से रोक लिया। आधे घंटे के अतिरिक्त समय में  भी भारतीय टीम विकेट लेने में नाकाम रही। अब हार या जीत का निर्णय पांचवे दिन के खेल से ही हो पायेगा। पर मौसम विभाग की माने तो पांचवे दिन मेलबर्न में बारिश की आशंका है। ऐसे में इस बात का डर है की कहीं पांचवे दिन की बारिश पूर्व की तरह भारतीय टीम के लिए दुर्भाग्य न ले आए और भारतीय टीम के जीत के इरादों पर पानी न फिर जाए।

बॉलीवुड की ये पांच फ़िल्में रखती हैं मुर्दादिल इंसान को भी ज़िंदा करने की ताकत।

चौथे दिन के खेल के ख़त्म होने तक 399 रन के स्कोर का पीछा करते हुए ऑस्ट्रेलिया ने अपने 8 विकेट गवां कर 258 रन बना लिए हैं। पेट कमिंस 61* रन और नाथन लॉयन 6* रन बनाकर अभी तक मैदान में ठीके हुए हैं। इस खेल के पांचवे दिन भारत को अपने जीत के लिए केवल 2 विकेट की जरुरत है जबकि ऑस्ट्रेलिया को अभी 142 रन बनाने हैं।

Image result for australia vs india chautha din

तीसरे सेशन में हुई कांटे की टक्कर 

टी – ब्रेक के बाद ऑस्ट्रेलिया टीम ने 44.6 ओवर में केवल 150 रन बनाए जिसके बाद इशांत शर्मा ने ट्रेविस हेड को आउट कर भारत को छठवीं सफलता दिलाई। ट्रेविस हेड केवल 34 रन बनाकर आउट हो गए। ट्रेविस के आउट होने के बाद टीम ऑस्ट्रेलिया के कप्तान टिम पेन को केवल 26 रन पर जडेजा ने ऋषभ के हाथों कैच आउट करा दिया। कप्तान पेन के बाद मिचेल स्टार्क ने कमिंस के साथ पारी को आगे बढ़ाया लेकिन 18 रन बनाने के बाद वो शमी की गेंद पर बोल्ड हो गए। नियत समय में परिणाम नहीं आने के बाद अंपायरों ने खेल को 30 मिनट बढ़ाने का निर्णय लिया। इस दौरान पैट कमिंस ने अर्धशतक जड़ा और ऑस्ट्रेलिया को 250 रन के पार पहुंचाया।पर नौवें विकेट के लिए नाबाद 43 रन की साझेदारी ने चौथे दिन भी टीम इंडिया को जीत से दूर रखा। 

 

2018 को कीजिये अलविदा और स्वागत कीजिये 2019 का। जानिये साल की पांच बड़ी घटनाएं।

चौथे दिन का दूसरा दूसरा पड़ाव भारतीय टीम के पक्ष में रहा। भारत ने इस सेशन में 28 ओवर में केवल 94 रन देकर ऑस्ट्रेलिया के 3 विकेट चटका दिए और ऑस्ट्रेलिया को कमजोर करते हुए मैच में अपनी पकड़ बढ़ा ली। पहले सत्र में भारत ने 2 विकेट लिए थे।

Image result for australia vs india chautha din

लंच के बाद ऑस्ट्रेलिया ने 14.2 ओवर में 50 रन पूरे किए। लंच के बाद ख्वाजा को शमी ने एलबीडबल्यू किया। ख्वाजा के 33 रन के साथ ऑस्ट्रेलिया ने  29.1 ओवर में अपने 100 रन के आंकड़े को पार किया। तीन विकेट गंवाने के बाद ट्रेविस हेड और शॉन मार्श ने चौथे विकेट के लिए 50 रनों की साझेदारी कर पारी को संभाल लिया था। बुमराह ने इस साझेदारी को तोड़कर भारत को चौथी सफलता दिलाई। उन्होंने शॉन मार्श को एलबीडब्ल्यू कर पवेलियन वापस भेज दिया। वे टीम के लिए केवल 44 रन  ही जोड़ पाए। इसके बाद बल्लेबाजी करने आए मिचेल मार्श भी केवल 10 रनों पर जडेजा की गेंद पर विराट को कैच दे बैठे।

आपके मोबाइल और लैपटॉप का रिमोट अब मोदी के हाथों में। निजी ज़िन्दगी भूल जाओ।

आज की ताजा खबर

Create your website at WordPress.com
Get started
%d bloggers like this: