Category Archives: Sports

all national and international games, hockey, cricket, football, tennis any sport games.

भारतीय क्रिकेट टीम : महेंद्र सिंह धोनी ने मास्टर से कराया परिचय।

google

 

नमस्कार दोस्तों,

बीते शुक्रवार को आर्कलैण्ड के ईडन पार्क में खेले गए दूसरे टी-20 इंटरनेशनल मैच में मेजबान टीम न्यूज़ीलैंड को भारत ने शानदार खेल का प्रदर्शन करते हुए 7 विकेट से हराकर तीन मैंचों की इस टी-20 सीरीज़ में 1-1 से बराबरी कर ली। इस मैच में धोनी द्वारा लगाए एक शानदार शॉट की खूब चर्चा हो रही है। इस शॉट की ख़ास बात यह है की धोनी ने यह ख़ास शॉट विरोधी टीम के एक गेंदबाज़ की चाल नाकाम करने के लिए खेला था। धोनी के इस शॉट की सोशल मीडिया पर काफी चर्चा हो रही है।

 

बसंतपंचमी 10 फ़रवरी 2019 : इस तरह कीजिये माँ सरस्वती को प्रसन्न।

 

मैच के सोलहवें ओवर में न्यूज़ीलैंड के लेग स्पिनर ईश सोढ़ी ने गेंदबाज़ी सम्हाली। ईश सोढ़ी ने धोनी को स्टंप आउट करने के इरादे से 16 वे ओवर के 5 वे गेंद पर धोनी के लिए जाल बिछाया। सोढ़ी ने यह गेंद ऑफ़स्टंप के बाहर फेंकी जिस पर एक बड़ा शॉट खेलने के इरादे से धोनी क्रीज़ से बाहर निकले। पर धोनी ने इस गेंद को समय रहते ही भांप लिया और फुल स्ट्रेच पर एक हाथ से एक अजीबोगरीब शॉट खेलकर गेंदबाज़ के साथ साथ दर्शकों को भी अचरज में डाल दिया। इस तरह गेंदबाज़ के इरादे को विफल करते हुए धोनी ने बताया कि क्रिकेट का मास्टर कौन है?

बॉलीवुड सेलिब्रिटीज पर चढ़ा सोशल मीडिया का बुखार।

 

आपको बता दें की धोनी इससे पहले भी खुद को स्टंप आउट होने से बचाने के लिए ऐसे तरीके आजमा चुके हैं। धोनी द्वारा विकेट के आगे इस तरह के एक्शन वाले शॉट्स ने इससे पहले भी खूब सुर्खियां बटोरी है। साल 2017 में भी धोनी ने न्यूज़ीलैंड के खिलाफ खेले जा रहे एक टी-20 मैच में खुद को स्टंप आउट होने से बचने के लिए इसी तरह का शॉट लगाया था।

 

अब व्हाट्स एप्प आपको देगा 1.8 करोड़ रुपये, अगर आपमें है सोशल मीडिया का कीड़ा।

 

साल 2017 में न्यूज़ीलैंड के खिलाफ राजकोट में खेले गए इस दूसरे टी-20 मैच में धोनी का एक और रैपिड एक्शन भरा शॉट देखने को मिला और साथ ही इस शॉट से धोनी के फिटनेस का भी एक जबरदस्त नमूना देखने को मिला। इस मैच में न्यूज़ीलैंड के स्पिनर मिशेल सेंटनर की गेंद पर धोनी ने तेज़ गति से रन बटोरने की मंसा से आगे बढ़कर बल्ला घुमाया था पर वे बीट हो गए और उनका संतुलन बिगड़ गया। धोनी जैसे ही क्रीज़ से आगे निकले तो विकेट कीपर ने स्टंपिंग का मौका नहीं छोड़ा। लेकिन धोनी ने अपने बिगड़े संतुलन के बावजूद अपना पैर क्रीज़ पर जमाए रखा और खुद को स्ट्रेच कर लिया।

 

आर्कलैण्ड टी-20 मैच में 17 गेंद पर 20 रन बनाकर महेंद्र सिंह धोनी नाबाद रहे। चौथे विकेट के लिए धोनी और ऋषभ पंत ने मिलकर 44 रनों की साझेदारी की। पंत ने 28 गेंदों पर नाबाद 40 रन बनाए। अब यह सीरीज 1 – 1 की बराबरी पर है। इस सीरीज का तीसरा और अंतिम मैच हैमिल्टन में कल रविवार को खेला जाएगा।

please start following this news.

महिला एवं पुरुष टी-20 वर्ल्ड कप 2020 : ऑस्ट्रेलिया करेगा मेजबानी।

Image result for t20 world cup 2020

नमस्कार दोस्तों,

2020 में होने वाले टी-20 वर्ल्ड कप इस बार बहोत ही ख़ास है क्योंकि महिला क्रिकेट टी-20 वर्ल्ड कप और पुरुष क्रिकेट टी-20 वर्ल्ड कप इस बार एक साथ होने जा रहा है। साल 2020 में होने वाले इन दोनों वर्ल्ड कप की मेज़बानी ऑस्ट्रेलिया ही करने वाली है। पुरुष टी-20 वर्ल्डकप के पहले मुकाबले में टीम इंडिया का सामना दक्षिण अफ्रीका के साथ पर्थ स्टेडियम में 24 अक्टूबर 2020 को होगा। वहीँ महिला क्रिकेट टी-20 में भारतीय टीम का सामना मौजूदा विजेता एवं मेज़बान टीम ऑस्ट्रेलिया से 21 फरवरी 2020 को सिडनी के स्पाटलेस स्टेडियम में होगा।

धोनी ने ऑस्ट्रेलिया में किया धमाका, धोनी के प्रदर्शन से कप्तान कोहली खुश

आईसीसी ने मंगलवार को अपने एक प्रेस विज्ञप्ति में महिला एवं पुरुष विश्व कप टूर्नामेंट के आयोजकों के नाम की घोषणा की। क्रिकेट इतिहास में यह पहला मामला है जब कोई एक ही देश एक ही वर्ष में महिला एवं पुरुष क्रिकेट वर्ल्डकप की मेज़बानी करने जा रहा है। महिला टी-20 वर्ल्डकप का आयोजन 21 फरवरी 2020 से प्रारम्भ होकर 8 मार्च को समाप्त होगा। 8 मार्च का दिन इसलिए भी खास है क्योंकि इस दिन को पुरे  विश्व में महिला दिवस के रूप में मनाया जाता है।

भारतीय क्रिकेट टीम : महेंद्र सिंह धोनी बने वनडे के दस हजारी। पढ़िए पूरी खबर।

इस वर्ल्ड कप टूर्नामेंट में भारतीय महिला क्रिकेट टीम को ग्रुप ए के मौजूदा विजेता टीम ऑस्ट्रेलिया, न्यूज़ीलैंड श्रीलंका और क्वालीफ़ायर-1 से कदम रखने वाली टीम के साथ शामिल किया गया है। दूसरी तरफ ग्रुप बी में इंग्लैंड, वेस्टइंडीज, दक्षिण अफ्रीका, पाकिस्तान और क्वालीफ़ायर-2 से कदम रखने वाली टीमें शामिल की गई है। इन सबके अलावा इस वर्ल्ड कप की एक और खास बात यह है की महिला वर्ल्डकप के दोनों सेमीफाइनल मैच एक ही दिन याने की पांच मार्च को एक ही स्टेडियम में खेले जाएंगे।

वनडे और टेस्ट क्रिकेट में बनने वाले बेहतरीन रिकार्ड्स और उससे जुड़ी यादें।

पुरुष टी-20  वर्ल्ड कप का आयोजन भी साल 2020 को ऑस्ट्रेलिया में ही किया जाएगा जिसकी सुरुवात 18 अक्टूबर 2020 से होगा और 15 नवंबर को इस टूर्नामेंट का अंतिम मैच खेला जाएगा। इसके लिए टीम इंडिया को इंग्लैंड, दक्षिण अफ्रीका, अफगानिस्तान और दो अन्य क्वालीफ़ायर टीमों के साथ ग्रुप 2 में रखा गया है।

इस टूर्नामेंट के ग्रुप -1 में पकिस्तान, ऑस्ट्रेलिया, वेस्टइंडीज, न्यूज़ीलैंड के अलावा दो अन्य क्वालीफ़ायर टीमें होंगी।

दोस्तों खेल से जुड़ी अन्य ख़बरों के लिए इस न्यूज़ को फॉलो ज़रूर करें. धन्यवाद्। 

धोनी ने ऑस्ट्रेलिया में किया धमाका, धोनी के प्रदर्शन से कप्तान कोहली खुश

नमस्कार दोस्तों,

 

भारतीय क्रिकेट टीम के वर्तमान कप्तान विराट कोहली ने पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी के बचाव में बयान देते हुए कहा कि वर्तमान में भारतीय क्रिकेट के लिए महेंद्र सिंह धोनी जितना समर्पित कोई दूसरा खिलाड़ी नहीं। विराट ने कहा की पांचवे नम्बर की बल्लेबाज़ी धोनी को रास आ रही है। सिडनी के पहले एक दिवसीय (one day) मैच में धीमी बल्लेबाज़ी के लिए आलोचना झेल रहे धोनी ने एडिलेड और मेलबर्न में टीम इंडिया को जीत दिलाई। ऑस्ट्रेलिया पर ऐतिहासिक जीत के लिए धोनी के योगदान की सराहना करते हुए कोहली ने कहा कि पूर्व कप्तान को कुछ राहत और मौका दिया जाना चाहिए, कोहली ने कहा की धोनी एक अनुभवी बल्लेबाज़ और विकेटकीपर हैं, इंडियन क्रिकेट टीम धोनी के लिए काफी खुश है। धोनी ने जिस लय के साथ रन बनाए वह उनके लौटते आत्मविश्वास की परिचायक है। इस वक़्त धोनी बहुत ज्यादा अंतराष्ट्रीय मैच नहीं खेल रहे हैं और ऐसे में उनका यह खेल प्रदर्शन और लौटता आत्मविश्वास काबिले तारीफ है।

भारतीय क्रिकेट टीम : महेंद्र सिंह धोनी बने वनडे के दस हजारी। पढ़िए पूरी खबर।

कोहली ने आगे कहा ‘मैदान के बाहर लोग अपनी अलग-अलग मानसिकता के मुताबिक अपनी अलग विचारधारा रखते हैं और कई तरह की बात करते हैं लेकिन हम सभी जानते हैं की धोनी जैसा समर्पित खिलाडी वर्तमान में दूसरा कोई नही। उन्हें थोड़ी राहत मिलनी चाहिए क्योंकि उन्होंने भारतीय क्रिकेट को बहोत कुछ दिया है।’ विराट कोहली ने कहा कि धोनी भारत के सबसे बुद्धिमान क्रिकेट खिलाड़ियों में से एक हैं। वह उन सुलझे हुए खिलाड़ियों में से एक हैं जिन्हे पता होता है की खेल के मुश्किल दौर में क्या करना है और किस परिस्थिति से कैसे निपटना है। कोहली ने कहा की एक कप्तान के रूप में मुझे पता है की धोनी क्या कर रहे हैं और हम सभी धोनी के लिए खुश हैं।कोहली ने कहा कि अपने खेल प्रदर्शन से धोनी ने यह साबित किया है की पांचवा नंबर उनके लिए उत्तम बल्देबाज़ी क्रम है। धोनी ने 2016 में चौथे नंबर पर बल्लेबाज़ी की पर अब वे पांचवे और छठे नंबर पर उतर कर खुश हैं और अच्छी बल्लेबाज़ी कर रहे हैं। पांचवा नंबर उनके लिए काफी बेहतर साबित हो रहा है। एडिलेड में अपने प्रदर्शन से उन्होंने इस बात की पुष्टि भी कर दी है।

फिल्म “गली बॉय” का टीज़र हुआ रिलीज़, जानिये कैसी है फिल्म की कहानी।

भारतीय टीम के वर्तमान कप्तान विराट कोहली ने अपने बयान में कहा की इस वक़्त भारतीय टीम के चौथे नंबर की बल्लेबाज़ी को काफी मज़बूत करने की ज़रूरत है। हालांकि इससे पूर्व वे इस साल होने वाले वर्ल्ड कप के लिए चौथे नंबर पर खेलने के लिए अम्बित रायडू को योग्य खिलाड़ी बता रहे थे। कोहली ने कहा की चौथे नंबर पर काफी प्रयोग के बाद भी अभी कोई निश्चित नाम तय नहीं किया जा सका। एडिलेड में चौथे नंबर पर रायडू का प्रदर्शन एक आदर्श है पर अभी भी टीम के बैटिंग आर्डर में ऐसे प्रयोग होते रहेंगे जब तक की चौथे नंबर के लिए कोई ज़िम्मेदारी नहीं ले लेता।

रजनीकांत की फिल्म पेट्टा के ट्रेलर को रिलीज़ होते ही मिले लाखों व्यू।

कोहली ने ऑस्ट्रेलिया पर वनडे सीरीज में मिली जीत पर कहा कि पिछले मैच में अंबित रायडू को चौथे नंबर, धोनी को पांचवे और दिनेश कार्तिक को छठे नंबर पर उतारा गया क्योंकि विजय शंकर और केदार जाधव को टीम में जगह दी गई। कोहली ने कहा की कार्तिक छठे नंबर पर अच्छा खेल रहे हैं और हम उनकी जगह बदलना नहीं चाहते।

2019 लोकसभा चुनाव : जानिये किसकी बनेगी सरकार।

कोहली ने पिछले साल वेस्टइंडीज के खिलाफ हुए घरेलु सीरीज में रायडू को चौथे नंबर पर उतारे जाने को सही बताया था पर वर्ल्ड कप में वे कोई रिस्क नहीं लेना चाहते हैं इसलिए वे चौथे नंबर के लिए किसी ऐसे योग्य खिलाड़ी की तलाश में हैं जो वर्ल्ड कप के अंत तक चौथे नंबर पर अपनी ज़िम्मेदारी निभा सके। उन्होंने अपनी कप्तानी के बारे में बात करते हुए कहा कि कप्तानी व्यक्तिगत नियंत्रण नहीं है, यदि टीम अच्छी होती है तो कप्तान भी अच्छा होता है। उन्होंने कहा की खले में हार या जीत के लिए हर खिलाड़ी एक सामान रूप से ज़िम्मेदार होता है क्योंकि सभी ने इसमें योगदान दिया है। हम ऑस्ट्रेलिया से जीत कर जा रहे हैं और यह हमारे लिए एक यादगार दौरा साबित हुआ। कोहली ने इस जीत के लिए अपनी पूरी टीम और स्टाफ को धन्यवाद् दिया। उन्होंने टीम इंडिया की इस जीत को सामूहिक प्रयास का प्रतिफल बताया।

भारतीय क्रिकेट टीम : महेंद्र सिंह धोनी बने वनडे के दस हजारी। पढ़िए पूरी खबर।

नमस्कार दोस्तों, 

दोस्तों, आज का दिन भारतीय क्रिकेट टीम के लिए काफी ख़ास है। आज भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ( mahendra singh dhoni )  ने काफी लम्बे इंतज़ार के बाद अपने वनडे क्रिकेट में 10000 रनों के आंकड़े को पार कर लिया है। महेंद्र सिंह धोनी की पहचान भारतीय क्रिकेट टीम ( indian cricket team ) केवल एक पूर्व कप्तान के रूप में ही नहीं बल्कि एक एक बेहतर विकेटकीपर के रूप में और एक दमदार बल्लेबाज़ के रूप में अपने हेलीकॉप्टर शॉट के लिए जाने जाते हैं।

देखिये रोहित शेट्टी और रणवीर सिंह की फिल्म सिम्बा, चार दिन में की 100 करोड़ वाली रिकॉर्ड तोड़ परफॉरमेंस।

महेंद्र सिंह धोनी के करोड़ों फैंस को इस खास पल का काफी समय से बड़ी बेशब्री से इंतज़ार था। धोनी को यह रिकॉर्ड बनाने और मुकाम हासिल करने के लिए 2 महीने का वक़्त लग गया। पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने अपने अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट कैरियर में 10000 रन (10000 odi runs ) पुरे कर लिए हैं। ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सिडनी में खेले जा रहे वनडे क्रिकेट मैच के दौरान केवल एक रन बनाते ही धोनी का नाम वनडे क्रिकेट के दसहजारी खिलाडियों की लिस्ट में शामिल हो गया। धोनी इससे पहले वनडे क्रिकेट में 9999 रन बना चुके थे और केवल एक ही रन की वजह से वे इस मुकाम से पीछे रह गए थे, दो महीने पहले वेस्टइंडीज के खिलाफ खेले गए घरेलु वनडे सीरीज में इस मुकाम तक पहुंचने में धोनी असफल रहे थे और अपने इस मुकाम से केवल एक रन पीछे चल रहे थे। जिसका उनके प्रशंसकों को बेशब्री से इंतज़ार था।

रजनीकांत की फिल्म पेट्टा के ट्रेलर को रिलीज़ होते ही मिले लाखों व्यू।

नए साल के पहले वनडे मैच में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सिडनी में खेले जा रहे मैच में उन्होंने इस एक रन के साथ ही रिकॉर्ड अपने नाम कर लिया। अपने इस रिकॉर्ड के साथ ही महेंद्र सिंह धोनी भारत के लिए अंतर्राष्ट्रीय वनडे क्रिकेट में 10000 ( दस हजार रन) पूरा करने वाले पांचवे खिलाड़ी बन चुके हैं।

आइये जानते हैं उन पांच भारतीय खिलाडियों के नाम जिन्होंने अंतर्राष्ट्रीय वनडे क्रिकेट मैच में 10000 से अधिक रन बनाये हैं :

कादर खान के बेटे ने गोविंदा पर तंज़ कसते हुए बॉलीवुड को कहा संवेदनहीन।

1 . सचिन तेंदुलकर ( sachin tendulkar )

सचिन तेंदुलकर ने अपने क्रिकेट कैरियर के अंतर्राष्ट्रीय वनडे मैचों सबसे अधिक 18426 रन बनाये हैं। सचिन का यह रिकॉर्ड अब तक कोई भी नहीं तोड़ पाया और भविष्य में भी शायद ही कोई खिलाड़ी उनके इस रिकॉर्ड के करीब तक पहुंच पायेगा।

नहीं रहे मनोरंजन के खान ‘कादर खान’ कनाडा में हुआ निधन।

2 . सौरव गांगुली ( saurav ganguli )

पूर्व कप्तान और वर्तमान के इंडियन कमेंटेटर सौरव गांगुली ने अपने अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट वनडे मैच में 11363 रन बनाये हैं और सचिन के बाद दूसरे स्थान पर हैं।

3 . राहुल द्रविड़ ( rahul dravid )

2019 लोकसभा चुनाव : जानिये किसकी बनेगी सरकार।

राहुल द्रविड़ ने अंतराष्ट्रीय क्रिकेट वनडे में अब तक 10889 रन बनाये हैं।

4 . विराट कोहली ( virat kohli )

विराट कोहली ने वनडे मैच में अब तक 10235 रन बनाये हैं।

बॉलीवुड की ये पांच फ़िल्में रखती हैं मुर्दादिल इंसान को भी ज़िंदा करने की ताकत।

5 . महेंद्र सिंह धोनी ( mahendra singh dhoni )

महेंद्र सिंह धोनी ने अब तक अंतर्राष्ट्रीय वनडे में 10203* रन बनाये हैं।

क्रिकेट न्यूज़ : जानिए भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच हो रहे टेस्ट मैच के चौथे दिन का हाल।

Image result for australia vs india chautha dinनमस्कार दोस्तों,

दोस्तों, मेलबर्न में भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच एमसीजी के ऐतिहासिक मैदान में खेले जा रहे बॉक्सिंग डे टेस्ट मैच के चौथे दिन का मुकाबला बड़ा ही शानदार रहा। टेस्ट के चौथे दिन भारतीय क्रिकेट टीम अपनी जीत से केवल 2 विकेट ही दूर रह गई है। ऑस्ट्रेलिआई गेंदबाज़ पैट कमिंस ने भारत को इस ऐतिहासिक जीत तक पहुंचने से रोके रखा है। कमिंस ने भारतीय टीम की दूसरी पारी में छः विकेट उड़ा दिए और अब बल्लेबाज़ी में भी भारतीय खिलाड़ियों को कड़ी टक्कर दे रहा है। उन्होंने आठवें और नौवें विकेट के लिए मिचेल स्टार्क और नाथन लायन के साथ बढ़िया साझेदारी करते हुए मिचेल के साथ 39 और नाथन के साथ 43* रन बनाए।  इस तरह उन्होंने भारतीय टीम को जीत हासिल करने से रोक लिया। आधे घंटे के अतिरिक्त समय में  भी भारतीय टीम विकेट लेने में नाकाम रही। अब हार या जीत का निर्णय पांचवे दिन के खेल से ही हो पायेगा। पर मौसम विभाग की माने तो पांचवे दिन मेलबर्न में बारिश की आशंका है। ऐसे में इस बात का डर है की कहीं पांचवे दिन की बारिश पूर्व की तरह भारतीय टीम के लिए दुर्भाग्य न ले आए और भारतीय टीम के जीत के इरादों पर पानी न फिर जाए।

बॉलीवुड की ये पांच फ़िल्में रखती हैं मुर्दादिल इंसान को भी ज़िंदा करने की ताकत।

चौथे दिन के खेल के ख़त्म होने तक 399 रन के स्कोर का पीछा करते हुए ऑस्ट्रेलिया ने अपने 8 विकेट गवां कर 258 रन बना लिए हैं। पेट कमिंस 61* रन और नाथन लॉयन 6* रन बनाकर अभी तक मैदान में ठीके हुए हैं। इस खेल के पांचवे दिन भारत को अपने जीत के लिए केवल 2 विकेट की जरुरत है जबकि ऑस्ट्रेलिया को अभी 142 रन बनाने हैं।

Image result for australia vs india chautha din

तीसरे सेशन में हुई कांटे की टक्कर 

टी – ब्रेक के बाद ऑस्ट्रेलिया टीम ने 44.6 ओवर में केवल 150 रन बनाए जिसके बाद इशांत शर्मा ने ट्रेविस हेड को आउट कर भारत को छठवीं सफलता दिलाई। ट्रेविस हेड केवल 34 रन बनाकर आउट हो गए। ट्रेविस के आउट होने के बाद टीम ऑस्ट्रेलिया के कप्तान टिम पेन को केवल 26 रन पर जडेजा ने ऋषभ के हाथों कैच आउट करा दिया। कप्तान पेन के बाद मिचेल स्टार्क ने कमिंस के साथ पारी को आगे बढ़ाया लेकिन 18 रन बनाने के बाद वो शमी की गेंद पर बोल्ड हो गए। नियत समय में परिणाम नहीं आने के बाद अंपायरों ने खेल को 30 मिनट बढ़ाने का निर्णय लिया। इस दौरान पैट कमिंस ने अर्धशतक जड़ा और ऑस्ट्रेलिया को 250 रन के पार पहुंचाया।पर नौवें विकेट के लिए नाबाद 43 रन की साझेदारी ने चौथे दिन भी टीम इंडिया को जीत से दूर रखा। 

 

2018 को कीजिये अलविदा और स्वागत कीजिये 2019 का। जानिये साल की पांच बड़ी घटनाएं।

चौथे दिन का दूसरा दूसरा पड़ाव भारतीय टीम के पक्ष में रहा। भारत ने इस सेशन में 28 ओवर में केवल 94 रन देकर ऑस्ट्रेलिया के 3 विकेट चटका दिए और ऑस्ट्रेलिया को कमजोर करते हुए मैच में अपनी पकड़ बढ़ा ली। पहले सत्र में भारत ने 2 विकेट लिए थे।

Image result for australia vs india chautha din

लंच के बाद ऑस्ट्रेलिया ने 14.2 ओवर में 50 रन पूरे किए। लंच के बाद ख्वाजा को शमी ने एलबीडबल्यू किया। ख्वाजा के 33 रन के साथ ऑस्ट्रेलिया ने  29.1 ओवर में अपने 100 रन के आंकड़े को पार किया। तीन विकेट गंवाने के बाद ट्रेविस हेड और शॉन मार्श ने चौथे विकेट के लिए 50 रनों की साझेदारी कर पारी को संभाल लिया था। बुमराह ने इस साझेदारी को तोड़कर भारत को चौथी सफलता दिलाई। उन्होंने शॉन मार्श को एलबीडब्ल्यू कर पवेलियन वापस भेज दिया। वे टीम के लिए केवल 44 रन  ही जोड़ पाए। इसके बाद बल्लेबाजी करने आए मिचेल मार्श भी केवल 10 रनों पर जडेजा की गेंद पर विराट को कैच दे बैठे।

आपके मोबाइल और लैपटॉप का रिमोट अब मोदी के हाथों में। निजी ज़िन्दगी भूल जाओ।

वनडे एवं टी -20 क्रिकेट : ऑस्ट्रेलिया नूज़ीलैण्ड बनाम टीम इंडिया।

MS Dhoniनमस्कार दोस्तों,

दोस्तों, ऑस्ट्रेलिया और न्यूज़ीलैंड के खिलाफ होने वाले वनडे और टी-20 मैच के लिए टीम इंडिया का ऐलान कर दिया गया है। इन दोनों ही जगह विराट कोहली ही भारतीय टीम के कप्तान होंगे। खास बात यह है की इन दोनों ही तरह के खेल के लिए महेंद्र सिंह धोनी को टीम में जगह मिल गई है। आपको याद हो की धोनी वेस्टइंडीज के खिलाफ पांचवे वनडे में ब्लू जर्सी में नज़र आये थे। जैसा की पहले से ही यह अंदाजा लगाया जा रहा था कि ऋषभ पंत की जगह धोनी को टीम में जगह मिल सकती है यह सच हो चूका है। वनडे टीम में इस बार ऋषभ पंत को शामिल नहीं किया गया है। 
 
ऑस्ट्रेलिया और नूज़ीलैण्ड के खिलाफ एक दिवसीय सीरीज का ऐलान होने के बाद से 2019 में होने वाले वर्ल्ड कप के लिए भी टीम इंडिया को लेकर अफवाहों का बाजार गर्म हो चला है। ऐसा कहा जा रहा है की ऑस्ट्रेलिया और नूज़ीलैण्ड के खिलाफ खेले जा रहे मैचों में जिन खिलाडियों का बेहतर प्रदर्शन रहेगा उनको वर्ड कप टीम में जगह मिलना तय है। इंडियन टीम के सलामी बल्लेबाज़ लोकेश राहुल के चयन में भी काफी संदेह था।
केएल राहुल
 
 आपको बता दें की अक्टूबर के बाद से ही धोनी क्रिकेट के मैदान से दूर हैं। अक्टूबर के पहले खेले गए 7 इंटरनेशनल मैचों में धोनी का प्रदर्शन कुछ ज्यादा खास नहीं रहा। पिछले मैचों में उनका स्कोर क्रमशः 23 , 7 , 20 , 36 , 8 , 33 और 0 रन रहा। इसके बावजूद दोनों ही फॉर्मेट में धोनी को जगह मिल चुकी है। चार मैचों की टेस्ट सीरीज के बाद भारत को ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ तीन वन-डे मैच भी खेलने हैं। इसके बाद न्यूजीलैंड दौरे पर पांच वन-डे मैच खेलने हैं और फिर तीन टी-20 मैच की सीरीज खेलनी है।
 
team india
 
अब यह देखना दिलचस्प होगा की किस्मत से मिले इस मौके का धोनी किस तरह फायदा उठाते हैं और किस प्रकार स्वयं को सिद्ध कर पाते हैं। दोस्तों यदि आपने अभी तक इस न्यूज़ को फॉलो / सुबसरकिबे नहीं किया है तो अभी कर दें ताकि आपको हर जरुरी खबर आपके मोबाइल स्क्रीन पर मिलती रहे  धन्यवाद्।  
 

आईपीएल में धूम मचाने आ रहा है यह रिकॉर्डधारी युवा खिलाड़ी.

नमस्कार दोस्तों,

महज़ 16 वर्ष के युवा क्रिकेटर लेग स्पिनर प्रयास रे बर्मन को विराट कोहली की कप्तानी वाली आरसीबी  टीम ने 1.5 करोड़ रुपये मी ख़रीदा है। इस युवा खिलाडी पर 2019 के आईपीएल मैच में सभी की नज़रें तिकी रहने वाली है।

राफेल डील पर मोदी ने सुप्रीम कोर्ट से बोला झूठ, पकड़े जाने पर कहा सुप्रीम कोर्ट की समझ में गलती।

दोस्तों जैसा की आप सभी जानते हैं की 2019 के लिए खिलाडियों का चयन किया जाना है, जिसके लिए मंगलवार 18 दिसंबर को खिलाड़ियों की नीलामी हुई। सभी खिलाड़ियों के लिए उनके उम्र अनुभव और खेल प्रतिभा को ध्यान रखते हुए उचित बेस प्राइस तय किये गए थे। कुछ खिलाड़ियों को आईपीएल कम्पनीज ने बेस प्राइस में तो कुछ को अधिक प्राइस पर ख़रीदा। पर इस नीलामी में एक 16 साल के युवा खिलाड़ी पर भी बोली लगाई गई और इस खिलाडी को 1 5 करोड़ रूपए में आरसीबी टीम ने ख़रीदा।  तो आइये जानते हैं की कौन है यह युवा खिलाड़ी और क्यों आरसीबी टीम ने किया इसपर इतना भरोसा की खर्च कर दिए डेढ़ करोड़ रुपये।

कमरे में साथी एंकर, खाली शराब की बोतलें और न्यूज़ एंकर की संदिग्ध मौत। जानिये पूरी खबर।

आपको बता दें की जिस युवा खिलाड़ी की हम बात कर रहे हैं वह आईपीएल में शामिल होने से पहले ही अपना नाम रिकॉर्ड बुक पर दर्ज़ करा चूका है। इस युवा खिलाड़ी का नाम प्रयास रे बर्मन है। प्रयास रे की उम्र नीलामी वाले दिन मात्र 16 वर्ष और 54 दिन के थे। लेग स्पिनर के तौर पर खेलने वाले प्रयास रे बर्मन को आरसीबी ने डेढ़ करोड़ खर्च कर अपनी टीम में शामिल किया है। टीम में शामिल होते ही प्रयास रे बर्मन आईपीएल टीम में ख़रीदे जाने वाले सबसे काम उम्र के क्रिकेटर बन चुके हैं। बंगाल की और से खेलने वाले बर्मन ने अब तक लिस्ट ए के लिए खेले गए नौ मैचों में कुल 11 विकेट चटकाए हैं।

राहुल की राफेल का टूट गया कनेक्शन, हो रही क्रैश लैंडिंग।

मैं अपने सभी क्रिकेट प्रेमी पाठकों की और से इस युवा खिलाड़ी को बेहतर खेल प्रदर्शन की आशा करते हुए इसकी उज्वल भविष्य की कामना करता हूँ।

दोस्तों यदि आपने अभी तक मुझे फॉलो / सब्सक्राइब नहीं किया है तो अभी कर दें ताकि किसी रोचक खबर से आप चूक न जाएँ, धन्यवाद्। 

कोहली की यह विराट गलती पद सकती है टीम इंडिया पर भारी।

Third party image reference

नमस्कार दोस्तों,

पर्थ:  दोस्तों जैसा की आप सब जानते हैं की पर्थ में भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच दूसरा टेस्ट मैच खेला जा रहा है। पर इस खेल के पहले ही दिन जो हुआ उसे स्वाभाविक नहीं कहा जा सकता। ऑस्ट्रेलिया और इंडिया के बीच दूसरे टेस्ट मैच के पहले दिन, शुरुवाती शत्र के खेल के बाद दिखाई पड़ रहा है कि भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली और कोच रवि शास्त्री इस मैच में एक बड़ी भूल कर बैठे। यह गलती भारतीय टीम का कितना बड़ा नुक्सान कर सकती है यह तो वक़्त ही बताएगा। लेकिन गलती का विराट रूप साफ तौर पर दिखाई पड़ रहा है। अब इस गलती को सुधारना भी भारतीय क्रिकेट टीम के लिए किसी बड़ी चुनौती से काम नहीं है। अब देखना यह है की टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली और कोच रवि शास्त्री मिलकर इस समस्या का कोई समाधान निकाल बाटे हैं या नहीं। पर अभी तक की कोशिशों के बाद भी इस समस्या का कोई समाधान नहीं मिल पा रहा।

देखो! 2018 की अबतक की सबसे चमकदार जेमिनेड उल्का पात आज रात।

Third party image reference

 पर्थ में टॉस जीतने के बाद ऑस्ट्रेलिया के बल्लेबाज़ों ने अपनी टीम को एक मज़बूत शुरुवात देने में कामयाबी हासिल की। ऑस्ट्रेलिआई ओपनर्स फिंच और हैरिस, खेल के शुरुवात से ही आत्मविश्वास से भरे हुए और दृढ़निश्चयी दिखाई पद रहे थे। खेल में बीतते समय के साथ बेहतर प्रदर्शन और साझेदारी से उनका आत्मबल और अधिक बढ़ता गया। उन्होंने अपने खेल प्रदर्शन से यह साबित कर दिया की यह मैच भारतीय टीम के लिए एक बड़ी चुनौती होने जा रही है। विराट ने इस खेल में कई बार गेंदबाज़ों की बदली की लेकिन गेंदबाज़ों की बदली का ऑस्ट्रेलियाई ओपनर्स पर कुछ खास फर्क नहीं पड़ा उन्होंने खेल पर अपना नियंत्रण बनाये रखा। ऐसे में अब भारतीय टीम के लिए ओपनर्स की साझेदारी को तोडना भी एक बड़ी चुनौती साबित हो रही है।

नेता प्रतिपक्ष के लिए भारतीय जनता पार्टी ने बृजमोहन अग्रवाल को किया आगे।

मैच शुरू होनी से पहले ही भारत ने अपने 13 सदस्यों वाली टीम की घोषणा कर दी थी। यह पूरी तरह से साफ़ था की रोहित शर्मा की जगह अनुमा विहारी खेलेंगे। पर यह साफ़ नहीं था की अश्विन के स्थान पर कौन खेलेगा। पर जब टीम का ऐलान किया गया तो यह एक बड़ी चर्चा का विषय बन गई। मैच के शुरुवात में भले ही विराट के इस फैसले का सभी ने समर्थन किया हो पर जैसे ही मैच आगे बढ़ा तो यह साफ़ हो गया की कप्तान विराट कोहली और टीम मैनेजमेंट से बड़ी चूक हो गई है। विराट कोहली ने इस मैच में चार तेज़ गेंदबाज़ों को जगह दी। आर अश्विन की जगह उमेश यादव को टीम में लाया गया लेकिन वह ओपनरों की साझेदारी और रन बटोरने की गति को रोकने में नाकाम रहा।

वनडे और टेस्ट क्रिकेट में बनने वाले बेहतरीन रिकार्ड्स और उससे जुड़ी यादें।

 मैच के आगे बढ़ते यह भी साफ़ हो गया की पिच पर छोड़ी गई घास की वजह से बोल को स्विंग करने में बोलरों को दिक्कत हो रही है। साथ ही पर्थ की पिच पारम्परिक गति और उछाल के लिए भी उचित योग्यता नहीं रखता। पिच पर गेंद रुक कर आ रही है। इससे यह साफ़ होता गया की दूसरे टेस्ट में भारत को स्पिनर्स की कमी खलने वाली है। अब यह सुनने में आ रहा है की टीम के सेलेक्टर्स को इस बात बात का अहसास होने लगा है की आर अश्विन की जगह रविंद्र जडेजा या किसी अन्य विशेषज्ञ स्पिनर को न चुनकर उन्होंने बड़ी गलती कर दी है।

और भी अधिक ताज़ा खबरों के लिए हमें फॉलो / सब्सक्राइब करना न भूलें, धन्यवाद्। 

वनडे और टेस्ट क्रिकेट में बनने वाले बेहतरीन रिकार्ड्स और उससे जुड़ी यादें।

Sachin and Muralitharanनमस्कार दोस्तों ,



दोस्तों, यदि मैं क्रिकेट को इंसानों का सबसे पसंदीदा खेल कहूं तो मै समझता हूँ की मेरा ऐसा कहना गलत नहीं होगा। यूँ तो इंसान अपने जीवन में रोमांच भरने के लिए कई खेल खेलता है पर क्रिकेट ही एक मात्रा ऐसा खेल है जिसमे खेलने वाले व्यक्ति से देखने वाला ज्यादा रोमांच का अनुभव करता है। 


आंकड़ों से सम्बंधित  इस खेल में इसके प्रारम्भ से लेकर अब तक कई रिकार्ड्स बनते और टूटते चले आ रहे हैं। दोस्तों क्रिकेट के खेल में रिकार्ड्स का बनना और टूटना बहोत ही आम बात है पर इस खेल में अब तक कुछ ऐसे रिकार्ड्स भी बन चुके हैं जिसे कभी तोडा ही नहीं जा सकता और न ही इन रिकार्ड्स को बनाने वाले  खिलाडी को कभी भुलाया जा सकता है। आइए जानते हैं  क्रिकेट के 10 ऐसे रिकार्ड्स और इन रिकार्ड्स को बनाने वाले के बारे में जिसे भविष्य में भी कभी कोई खिलाडी तोड़ नहीं सकता… … ….. …. 

जानिये कांग्रेस की उम्मीद और सबसे युवा नेता सचिन पायलट के बारे में।

1. डॉन ब्रैडमैन : टेस्ट में 99.94 की औसत बल्लेबाजी 

आज से 67 साल पहले ही डॉन ब्रैडमैन ने टेस्ट क्रिकेट से सन्यास ले लिया है, लेकिन टेस्ट क्रिकेट में औसत बल्लेबाजी  का उनका रिकॉर्ड आज तक न तो कोई तोड़ पाया है और न ही भविष्य में इस रिकॉर्ड को तोड़ पाने की कोई सम्भावना है। डॉन ब्रैडमैन ने 99.94 की औसत से रन बटोरे हैं, डॉन ब्रैडमेन के बाद सबसे अच्छी औसत बल्लेबाजी की लिस्ट में जो दूसरा बल्लेबाज है उनका नाम ग्रीम पोलाक है।  दक्ष‍िण अफ्रीका के ग्रीम पोलाक की औसत बल्लेबाज़ी 60.97 है। 

2. सचिन तेंदुलकर : वनडे क्रिकेट में सर्वाधिक 18426 रन 

क्रिकेट के भगवान कहे जाने वाले सचिन तेंदुलकर का वनडे क्रिकेट में सबसे अधिक 18426 रन बनाने का रिकॉर्ड तोड़ना भी अब तक किसी के लिए संभव नहीं हो सका है।इस लिस्ट में सचिन से नीचे जो बल्लेबाज हैं, वो सभी वनडे क्रिकेट से बहोत पहले ही संन्यास ले चुके हैं.

3. मुथैया मुरलीधरन : 1347 विकेट लेने वाले एक मात्र गेंदबाज़। 

इंटरनेशनल क्रिकेट में अब तक केवल दो ही गेंदबाज ऐसे हैं जिन्होंने अपनी गेंदबाज़ी से 1000 से अधिक विकेट उड़ाए  हैं. पहले पायदान पर हैं मुथैया मुरलीधरन और दूसरे पर शेन वॉर्न का नाम दर्ज़ है. मुरलीधरण ने 1347 विकेट लिए, जबकि शेनवॉर्न 1001 पर ही ठहर गए और इससे आगे नहीं बढ़ पाए। मुरली का रिकॉर्ड तोड़ने की बात तो दूर, अब तो कोई गेंदबाज इंटरनेशनल क्रिकेट में  न तो इतना लम्बा  खेलता  है और न ही 1000 विकेट लेने के बारे में सोचता है.

4. जैक होब्स: फर्स्ट क्लास क्रिकेट में 61760 रन

इंग्लैंड के सर जैक होब्स ने फर्स्ट क्लास क्रिकेट में बल्लेबाजी की जो क्लास दिखाई, आज की क्रिकेट में कोई भी खिलाडी उसके आसपास तक भी नहीं पहुंच पाया और नहीं कोई खिलाडी इस आंकड़े के करीब तक पहुंचने के बारे में सोचता है। आपको शायद यह जानकर हैरानी होगी कि सचिन तेंदुलकर, राहुल द्रविड़, सुनील गावस्कर, रिकी पोटिंग और ब्रायन लारा जैसे बल्लेबाज़ों का फर्स्ट क्लास क्रिकेट में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले टॉप 10 खिलाडियों की लिस्ट में नाम तक नहीं है। 

5. जिम लेकर: एक ही टेस्ट में 19 विकेट लिए। 

इंग्लैंड के जिम लेकर ने 1956 में इंग्लैंड के खिलाफ एक टेस्ट में 19 विकेट लेने का जो रिकॉर्ड बनाया था, उसे इतने सालों में तोड़ना तो दूर, इस रिकॉर्ड की कोई बराबरी भी नहीं कर पाया. और इस रिकॉर्ड को तोड़ पाना पूरी तरह से नामुनकिन भी है क्योंकि जो ये रिकॉर्ड तोड़ेगा, उस गेंदबाज को टेस्ट मैच की दोनों पारियों में सभी 20 विकेट लेने होंगे. जो असंभव सा है।  

6. ग्राहम गूच: एक टेस्ट में 456 रन बनाये। 

ग्राहम गूच ने यह रिकॉर्ड टीम इंडिया के खिलाफ साल 1990 में बनाया था. उन्होंने खेल की पहली पारी में 333 रन  बनाये और दूसरी में 123 रन. इस तरह उन्होंने एक ही टेस्ट में 456 रन बनाने का अद्भुत रिकॉर्ड अपने नाम कर लिया। उसके बाद ब्रायन लारा ने एक ही पारी में 400 रन बनाने का रिकॉर्ड भी बना दिया, लेकिन न तो लारा और न ही कोई दूसरा ऐसा बल्लेबाज़ हुआ जो की ग्राहम गूच के इस रिकॉर्ड को तोड़ सके।

7. विल्फ्रेड रोड्स: फर्स्ट क्लास क्रिकेट में 4204 विकेट

शायद आपको यह जानकर हैरानी होगी कि इंग्लैंड के दिग्गज क्रिकेटर विल्फ्रेड रोडस ने  कुल 1110 फर्स्ट क्लास मैच खेले थे। फर्स्ट क्लास क्रिकेट में उन्होंने 4 हजार विकेटों का आंकड़ा पार किया और ऐसा करने वाले दुनिया के अकेले क्रिकेटर बन गए। पिछले तीस सालों में कोई गेंदबाज टॉप 25 फर्स्ट क्लास बॉलरों की सूची में भी अपनी जगह नहीं बना पाया तो फिर इस रिकॉर्ड का टूटना तो बहुत दूर की बात है.

8. चामिंडा वास : एक वनडे मैच में लिए 8 विकेट

श्रीलंका के खब्बू गेंदबाज के नाम से मशहूर चामिंडा वास ने 2001 में सिर्फ 19 रन देकर अकेले ही 8 विकेट लिए थे. आज तक उनके रिकॉर्ड का कोई भी गेंदबाज़ बराबरी नहीं कर पाया है। 

9. क्रिस गेल: 30 गेंदों में शतक 

क्रिस गेल ने दो साल पहले आईपीएल में महज 30 गेंदों में शतक ठोककर टी 20 का सबसे तेज गति से शतक बनाया था और ऐसा करने वाले टेस्ट मैच के पहले बल्लेबाज़ के तौर पर यह रिकॉर्ड अपने नाम कर लिया था।  गेल का यह रिकॉर्ड तोड़ने के लिए बल्लेबाज़ को हर गेंद पर तीन रन से ज्यादा की औसत से रन बनाने होंगे. ऐसे में इस रिकॉर्ड के टूटने के बारे में  कोई खिलाडी सोचता भी नहीं है। 

10. फिल सिमंस: 10 ओवर में 3 रन

वनडे क्रिकेट में 0.3 की इकॉनोमी. यह सबसे दमदार गेंदबाज़ी का बेतोड़ उदाहरण है। शायद आप यह पढ़ कर चौक गए होंगे पर यह सच है। वेस्टइंडीज के फिल सिमंस ने  23 साल पहले पाकिस्तान के खिलाफ खेले गए मैच में यह कारनामा कर दिखाया है. सिमंस ने सिडनी में खेले गए इस वनडे मैच में 10 ओवर में 8 मेडेन के साथ सिर्फ 3 रन दिए थे और पाकिस्तान के 4 विकेट चटखाये थे।

दोस्तों, और भी अधिक रोचक ख़बरों के लिए  हमें फॉलो/सब्सक्राइब करना न भूलें, धन्यवाद्। 

ऑस्ट्रेलिया टेस्ट में भारतीय टीम हो रही गलत अम्पायरिंग का शिकार

 

india vs australia

नमस्कार दोस्तों,

आज ऑस्ट्रेलिया और भारत के बीच एडिलेड में चल रहे पहले टेस्ट मैच में भारतीय टीम अपनी जीत से छह विकेट दूर है। टीम इंडिया को इस मुकाबले में अपनी जीत हासिल करने के लिए हर हाल में  मैच के आखरी दिन ऑस्ट्रेलिया के छह विकेट गिराने होंगे। वैसे मैच की ताज़ा स्थिति को देखते हुए यह काम भारतीय टीम के लिए ज्यादा मुश्किल नहीं लगती। मैच में लगातार हो रहे ख़राब अम्पायरिंग के बावजूद टीम इंडिया काफी मज़बूत बनी हुई है। 

भारत और ऑस्ट्रेलिया के मध्य एडिलेड में खेले जा रहे पहले टेस्ट मैच में टीम इंडिया को कई बार ख़राब अम्पायरिंग का सामना करना पड़ा। अम्पायर नाइजल लॉन्ग ने ख़राब अम्पायरिंग करते हुए कई बार गलत निर्णय सुनाया। उनकी अम्पायरिंग की हर कोई आलोचना कर रहा है। आज मैच के चौथे दिन भी उनके निर्णय पर सवाल उठाये गए।  इससे पहले भी तीसरे दिन के खेल में नैजल ने दो बार गलत निर्णय दिया था।