Tag Archives: 10 december 2018

10 दिसंबर 2018 : आरबीआई के गवर्नर उर्जित पटेल ने निजी कारणों का हवाला देकर दिया इस्तीफा

RBI resigns from Urjit Patel

 नमस्कार दोस्तों,

इस वक्त नई दिल्ली से एक बड़ी खबर आ रही है, इस खबर के मुताबिक भारतीय रिज़र्व बैंक के गवर्नर उर्जित पटेल ने आज सोमवार को निजी कारणों का हवाला देते हुए अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। उर्जित पटेल ने सितंबर 2016 में पूर्व गवर्नर रघुराम राजन की सेवानिवृत्ति के बाद गर्वनर का पद ग्रहण किया था।

नेहा कक्कड़ और हिमांश कोहली के रिश्ते में आई दरार, क्या हो गए हैं एक-दूसरे से अलग?

उर्जित रविंद्र पटेल, एक भारतीय अर्थशास्त्री हैं, जो कि 2016 के सितम्बर में पूर्व गवर्नर रघुराम राजन की सेवानिवृत्ति के बाद से लेकर आज 10 दिसंबर 2018 को स्वयं के इस्तीफा देने तक भारतीय रिज़र्व बैंक के गवर्नर पद पर नियुक्त थे।

ईशा अम्बानी की प्री वेडिंग सेरेमनी में लगा सितारों का मेला।

उर्जित पटेल ने भारतीय रिजर्व बैंक के डिप्टी गवर्नर के रूप में मौद्रिक नीति, आर्थिक नीति अनुसंधान, सांख्यिकी और सूचना प्रबंधन का कार्य किया, साथ ही जमा बीमा, संचार और सूचना का अधिकार में भी काम किया।

10 दिसंबर 2018 मानवाधिकार दिवस। जानिये अपने सभी जरुरी मौलिक अधिकारों के बारे में।

मौजूदा नरेंद्र मोदी सरकार द्वारा उर्जित पटेल 4 सितंबर 2016 को भारतीय रिजर्व बैंक के गवर्नर के रूप में नियुक्त किये गए थे। गवर्नर पद के लिए चुने जाने से पूर्व 14 जनवरी 2013 से वे उप-गवर्नर के पद पर कार्यरत थे।

follow/subscribe this news for all latest news updates.

10 दिसंबर 2018 मानवाधिकार दिवस। जानिये अपने सभी जरुरी मौलिक अधिकारों के बारे में।

 Human Rights Day 2018 / जानिए क्या हैं आपके मुख्य मानवाधिकार, जो आपके लिए हैं बेहद जरूरी

 
 
 

10 दिसंबर 2018 सोमवार को ‘अंतरराष्ट्रीय मानवाधिकार दिवस’ यानी International Human Rights Day के रूप में पूरे विश्व में मनाया जाएगा।

अंतर्राष्ट्रीय मानवाधिकार दिवस, विश्व के सभी मानव के अधिकारों को पहचान देने और हर मनुष्य को उनके मौलिक अधिकारों के प्रति जागरूक बनाने के लिए प्रति वर्ष 10 नवंबर को मानवाधिकार दिवस के रूप में मनाया जाता है। 

 

ऑस्ट्रेलिया टेस्ट में भारतीय टीम हो रही गलत अम्पायरिंग का शिकार

 

अंतरराष्ट्रीय मानवाधिकार दिवस के दिन दुनियाभर में मानव अधिकारों के हनन को रोकने और उनके बारे में जागरूकता फैलाने के लिए कई तरह के कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता है। ताकि हर इंसान अपने अधिकारों के प्रति जागरूक हो और अपने अधिकारों की रक्षा करते हुए एक सम्मानित जीवन जी सकें।

 

जानें ब्लॉकचैन को क्यों पसंद करने लगीं कंपनियां और सरकार

जानें क्या हैं मुख्य मानवाधिकार

मालूम हो की मानव अधिकार का मतलब उन मूल अधिकारों से है जो सभी को समान रुप से जीवन जीने, स्वतंत्रता, प्रतिष्ठा और एक समान सम्मानजनक व्यवहार की प्राप्ति का अधिकार प्रदान करता है। 

कुछ ऐसे मौलिक अधिकार है जिसका ज्ञान हर व्यक्ति को होना अत्यंत आवश्यक हैं। यह नियम कानून युद्ध बंदियों, कैदियों से लेकर सामान्य नागरिकों तक सभी के लिए एक सामान बनाए गए हैं।

 

ईशा अंबानी की प्री-वेडिंग सेरेमनी में रैंप वॉक करेंगे मेहमान, लंच में परोसी जाएंगी 400 डिश

 

* बोलने की आजादी

* आजादी और सुरक्षा का अधिकार

* आर्थिक शोषण के खिलाफ आजाव उठाने का अधिकार

* रंग, नस्ल, भाषा, धर्म के आधार पर समानता का अधिकार

* कानून के सामने समानता का अधिकार

* कानून के सामने अपना पक्ष रखने का अधिकार

* अभिव्यक्ति की आजादी का अधिकार

 

आज और अभी जानिये पांच राज्यों के चुनाव परिणाम, बीजेपी का हुआ सफाया।

 

ये ऐसे मुलभुत अधिकार हैं जिनकी जानकारी न होने पर मनुष्य को कई बार शोषण और अपमान का सामना करना पड़ सकता है. इन अधिकारों की जानकारी से आप अपने अधिकारों की रक्षा करते हुए एक बेहतर व्यक्तित्व की रचना कर सकते हैं.