Tag Archives: 2018

क्रिकेट न्यूज़ : जानिए भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच हो रहे टेस्ट मैच के चौथे दिन का हाल।

Image result for australia vs india chautha dinनमस्कार दोस्तों,

दोस्तों, मेलबर्न में भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच एमसीजी के ऐतिहासिक मैदान में खेले जा रहे बॉक्सिंग डे टेस्ट मैच के चौथे दिन का मुकाबला बड़ा ही शानदार रहा। टेस्ट के चौथे दिन भारतीय क्रिकेट टीम अपनी जीत से केवल 2 विकेट ही दूर रह गई है। ऑस्ट्रेलिआई गेंदबाज़ पैट कमिंस ने भारत को इस ऐतिहासिक जीत तक पहुंचने से रोके रखा है। कमिंस ने भारतीय टीम की दूसरी पारी में छः विकेट उड़ा दिए और अब बल्लेबाज़ी में भी भारतीय खिलाड़ियों को कड़ी टक्कर दे रहा है। उन्होंने आठवें और नौवें विकेट के लिए मिचेल स्टार्क और नाथन लायन के साथ बढ़िया साझेदारी करते हुए मिचेल के साथ 39 और नाथन के साथ 43* रन बनाए।  इस तरह उन्होंने भारतीय टीम को जीत हासिल करने से रोक लिया। आधे घंटे के अतिरिक्त समय में  भी भारतीय टीम विकेट लेने में नाकाम रही। अब हार या जीत का निर्णय पांचवे दिन के खेल से ही हो पायेगा। पर मौसम विभाग की माने तो पांचवे दिन मेलबर्न में बारिश की आशंका है। ऐसे में इस बात का डर है की कहीं पांचवे दिन की बारिश पूर्व की तरह भारतीय टीम के लिए दुर्भाग्य न ले आए और भारतीय टीम के जीत के इरादों पर पानी न फिर जाए।

बॉलीवुड की ये पांच फ़िल्में रखती हैं मुर्दादिल इंसान को भी ज़िंदा करने की ताकत।

चौथे दिन के खेल के ख़त्म होने तक 399 रन के स्कोर का पीछा करते हुए ऑस्ट्रेलिया ने अपने 8 विकेट गवां कर 258 रन बना लिए हैं। पेट कमिंस 61* रन और नाथन लॉयन 6* रन बनाकर अभी तक मैदान में ठीके हुए हैं। इस खेल के पांचवे दिन भारत को अपने जीत के लिए केवल 2 विकेट की जरुरत है जबकि ऑस्ट्रेलिया को अभी 142 रन बनाने हैं।

Image result for australia vs india chautha din

तीसरे सेशन में हुई कांटे की टक्कर 

टी – ब्रेक के बाद ऑस्ट्रेलिया टीम ने 44.6 ओवर में केवल 150 रन बनाए जिसके बाद इशांत शर्मा ने ट्रेविस हेड को आउट कर भारत को छठवीं सफलता दिलाई। ट्रेविस हेड केवल 34 रन बनाकर आउट हो गए। ट्रेविस के आउट होने के बाद टीम ऑस्ट्रेलिया के कप्तान टिम पेन को केवल 26 रन पर जडेजा ने ऋषभ के हाथों कैच आउट करा दिया। कप्तान पेन के बाद मिचेल स्टार्क ने कमिंस के साथ पारी को आगे बढ़ाया लेकिन 18 रन बनाने के बाद वो शमी की गेंद पर बोल्ड हो गए। नियत समय में परिणाम नहीं आने के बाद अंपायरों ने खेल को 30 मिनट बढ़ाने का निर्णय लिया। इस दौरान पैट कमिंस ने अर्धशतक जड़ा और ऑस्ट्रेलिया को 250 रन के पार पहुंचाया।पर नौवें विकेट के लिए नाबाद 43 रन की साझेदारी ने चौथे दिन भी टीम इंडिया को जीत से दूर रखा। 

 

2018 को कीजिये अलविदा और स्वागत कीजिये 2019 का। जानिये साल की पांच बड़ी घटनाएं।

चौथे दिन का दूसरा दूसरा पड़ाव भारतीय टीम के पक्ष में रहा। भारत ने इस सेशन में 28 ओवर में केवल 94 रन देकर ऑस्ट्रेलिया के 3 विकेट चटका दिए और ऑस्ट्रेलिया को कमजोर करते हुए मैच में अपनी पकड़ बढ़ा ली। पहले सत्र में भारत ने 2 विकेट लिए थे।

Image result for australia vs india chautha din

लंच के बाद ऑस्ट्रेलिया ने 14.2 ओवर में 50 रन पूरे किए। लंच के बाद ख्वाजा को शमी ने एलबीडबल्यू किया। ख्वाजा के 33 रन के साथ ऑस्ट्रेलिया ने  29.1 ओवर में अपने 100 रन के आंकड़े को पार किया। तीन विकेट गंवाने के बाद ट्रेविस हेड और शॉन मार्श ने चौथे विकेट के लिए 50 रनों की साझेदारी कर पारी को संभाल लिया था। बुमराह ने इस साझेदारी को तोड़कर भारत को चौथी सफलता दिलाई। उन्होंने शॉन मार्श को एलबीडब्ल्यू कर पवेलियन वापस भेज दिया। वे टीम के लिए केवल 44 रन  ही जोड़ पाए। इसके बाद बल्लेबाजी करने आए मिचेल मार्श भी केवल 10 रनों पर जडेजा की गेंद पर विराट को कैच दे बैठे।

आपके मोबाइल और लैपटॉप का रिमोट अब मोदी के हाथों में। निजी ज़िन्दगी भूल जाओ।

2018 को कीजिये अलविदा और स्वागत कीजिये 2019 का। जानिये साल की पांच बड़ी घटनाएं।

नमस्कार दोस्तों,

दोस्तों, देखते देखते साल 2018 का अंत भी निकट आ ही गया। बस कुछ ही दिन होर फिर हम सब नए साल 2019 का स्वागत कर रहे होंगे। 31 दिसंबर की रात सभी के लिए बहोत ही खास होता है इस दिन का माहौल किसी बड़े त्यौहार से भी ज्यादा  होता है। लोग छुट्टियां लेकर पिकनिक मानते हैं. फैमली के साथ आउटडोर का मज़ा लेते हैं, कुछ लोग हिल स्टेशन में तो कुछ लोग अपने घर पर ही रहकर इस रात को दिल खोलकर एन्जॉय करते हैं। यह दिन एक अलग ही अहसास करता है क्योंकि इस दिन हम पुराने वर्ष को विदा भी कर रहे होते हैं और नए वर्ष का स्वागत भी। वक़्त भले ही बीत जाती है पर वह हमें कुछ ऐसी अच्छी बुरी यादें दे जाती है जिन्हे हम चाह कर भी भुला नहीं सकते। आइए जानते हैं 2018 में घटी कुछ ऐसी महत्वपूर्ण घटनाओं के बारे में जिन्हे कभी भी भुलाया नहीं जा सकता।

इन टॉप 10 पार्टी सांग्स से बनायें अपनी क्रिसमस और न्यू ईयर पार्टी को यादगार।

1. सबरीमाला मंदिर में महिलाओं को मिला प्रवेश। 


Image result for sabarimala mandir

दोस्तों इस साल सुप्रीम कोर्ट ने शदियों पुरानी परंपरा को बदलते हुए केरल के सबरीमाला मंदिर में महिलाओं के प्रवेश पर प्रतिबन्ध को उनका मौलिक अधिकार बताते हुए उन्हें प्रवेश की कानूनी अनुमति दे दी। आपको बतादें की यह मामला धार्मिक आस्था से जुड़ा होने के कारण काफी संवेदनशील था। इस फैसले से पूर्व  सबरी माला मंदिर में 8 वर्ष से लेकर 65 तक की उम्र की महिलाओं को मंदिर प्रवेश की अनुमति नहीं थी। महिला संगठनों ने इस नियम का विरोध करते हुए मंदिर प्रवेश की मांग की थी जिसे कोर्ट ने महिलाओं के हक़ में फैसला सुनते हुए उन्हें मंदिर प्रवेश की अनुमति दे दी। 28 सितम्बर को तात्कालिक मुख्या न्यायाधीश दीपक मिश्रा वाली संविधान पीठ ने यह फैसला सुनाया।

बॉलीवुड की ये पांच फ़िल्में रखती हैं मुर्दादिल इंसान को भी ज़िंदा करने की ताकत।

2. स्टेचू ऑफ़ यूनिटी।  


Image result for statue of unity hindi news


इसी साल गुजरात के केवडिया में सरदार वल्लभ भाई पटेल की 182 मिटेर ऊँची मूर्ति का उद्घाटन किया गया। इस मूर्ति को स्टेचू ऑफ़ यूनिटी का नाम दिया गया है। आपको बता दें की इस मूर्ति के उद्घाटन होते ही भारत दुनिया का एकमात्र ऐसा देश बन गया है जहां दुनिया की सबसे ऊँची बनाई गई है। आपको बता दें स्टेचू ऑफ़ लिबर्टी भी इससे काफी छोटी है। 31 अक्टूबर को सरदार वल्लभ भाई पटेल के जन्म दिवस पर उनकी इस मूर्ति का उद्घाटन प्रधान मंत्री मोदी द्वारा किया गया। इस मूर्ति के निर्माण में कुल 3000 करोड़ रुपये का खर्च बताया गया है।

सलमान खान की वांटेड गर्ल आइशा टाकिया का प्रियंका निक जोनस की रिसेप्शन में दिखा जल्वा।

3 . राफेल विवाद पर फैसला। 




कांग्रेस एवं अन्य विरोधी पार्टी द्वारा प्रधानमंत्री मोदी एवं केंद्र सरकार पर लगाए गए राफेल डील पर घोटाले के आरोप को बेबुनियाद बताते हुए सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र सरकार को क्लीन चिट देदी जिसके बाद राहुल गाँधी का खूब मज़ाक उड़ाया गया। हलाकि कांग्रेस अभी भी अपने इन आरोपों को सही बताते हुए मोदी सरकार पर सुप्रीम कोर्ट में गलत तथ्य पेश करने का आरोप लगाया है। कांग्रेस के इस आरोप को खुद बीजेपी ने अपने एक हलफ नाम से सही साबित कर दिया जिसमे बीजेपी ने सुप्रीम कोर्ट से अपने निर्णय में कुछ बिंदुओं पर फेरबदल की मांग की है।

राफेल डील पर मोदी ने सुप्रीम कोर्ट से बोला झूठ, पकड़े जाने पर कहा सुप्रीम कोर्ट की समझ में गलती।

4 . समलैंगिकता को मिली कानूनी मान्यता। 

Image result for samlaingik rishta

सुप्रीम कोर्ट ने इसी साल सितम्बर माह में समलैंगिकता को अपराध की श्रेणी से बाहर करते हुए इसे व्यक्तिगत जीवन शैली घोषित कर दिया।

5 . मस्जिद में नमाज़ का मुद्दा। 



Image result for raam janm bhoomi

अयोध्या के राम जन्मभूमि का विवाद भी साल भर देश की राजनीति में छाया रहा और अभी भी इसपर सभी राजनितिक पार्टियों की और से राजनीति की जा रही है। कोर्ट ने इस पर अपना फैसला देकर यह साफ़ कर दिया है की मस्जिद को इस्लाम का हिस्सा नहीं मानने वाले साल 1994 के इस्माइल फारुकी फैसले का वर्तमान में राम जन्मभूमि विवाद से कोई भी सम्बन्ध नहीं है और इस मुद्दे पर दोबारा विचार की कोई जरुरत भी नहीं है।

बॉक्स ऑफिस पर फिल्म “zero” को दर्शकों ने दिया जीरो “0” मार्क्स।

जिस 1994 के फैसले का यहां पर जिक्र किया गया है उसमे संविधान पीठ ने यह माना था की नमाज़ कहीं भी, यहां तक की खुले मैदान में भी पढ़ी जा सकती है।  नमाज़ अदायगी के लिए मस्जिद जरुरी नहीं है। इसपर मुस्लिम पक्ष का कहना था की कोर्ट के इस फैसले से पूरा भूमि विवाद प्रभावित हुआ है। लखनऊ पीठ ने साल 2010 में इसी फैसले के आधार पर राम जन्मभूमि के तीन हिस्से करने का फैसला दिया था, क्योंकि संविधान पीठ कह चुकी थी की मस्जिद इस्लाम का अभिन्न अंग नहीं है।

इन टॉप 10 पार्टी सांग्स से बनायें अपनी क्रिसमस और न्यू ईयर पार्टी को यादगार।

नमस्कार दोस्तों,

दोस्तों आज क्रिसमस के साथ ही साल के आखरी और नए साल के पहले सबसे बड़े फेस्टिवल अर्थात न्यू ईयर की तैयारियां शुरू हो चुकी है। आज पूरी दुनिया क्रिसमस का त्यौहार मना रहा है और साथ ही न्यू ईयर पार्टी की  प्लानिंग भी कर रहा है। इस सबसे बड़े फेस्टिवल को आप कैसे यादगार बना सकते हैं आज हम इसी बारे में चर्चा कर रहे हैं।

दोस्तों दुनिया भर में चाहे कोई भी त्यौहार या किसी भी खास पल का सेलिब्रेशन खास पार्टी सांग्स के साथ किया जाता है। आज हम आपको ऐसे टॉप 10 पार्टी सांग्स के बारे में बताने जा रहे हैं जो आपकी हर सेलिब्रेशन को याद गार बना देगी।

आम लोगों के साथ बॉलीवुड के सितारे भी इन ख़ास लम्हों को सेलिब्रेट करने से पीछे नहीं  रहते और अपने कीमती समय से कुछ वक़्त निकाल ही लेते हैं।  आज बॉलीवुड के सभी सितारे क्रिसमस का त्यौहार मानाने में मस्त हैं और हर कोई क्रिसमस पार्टी का लुत्फ़ उठा रहा है।

आइये जानते हैं टॉप 10 पार्टी सांग्स के बारे में जो की आपकी पार्टी को बना सकते हैं यादगार। 

X

तो दोस्तों आप भी इन गानों को अपने पार्टी के डीजे में शामिल करके  पार्टी को फ़िल्मी सितारों की पार्टी की तरह ही यादगार और जबरदस्त बना सकते हैं।

इससाल कई दमदार गाने रिलीज़ हुए हैं पर इन गानों की बात ही कुछ और है। इन गानों से आपकी पार्टी की शान भी बढ़ेगी और आपके गेस्ट खुलकर एन्जॉय करेंगे।

आपको हमारी और से क्रिसमस एवं न्यू ईयर की हार्दिक सुभकामनाएँ. यदि आपने अभी तक इस न्यूज़ को फॉलो नहीं किया है तो अभी कर दें ताकि इसी तरह की हर मनोरंजक खबर आपके मोबाइल पर पहुँचती रहे, धन्यवाद्। 

merry Christmas : रंगीन रौशनी की चमक से जगमगाउठी दुनिया, बॉलीवुड स्टार्स में भी क्रिसमस की धूम।

नमस्कार दोस्तों,

दोस्तों, आज 25 दिसंबर का दिन है। आज के दिन को पुरे विश्व भर में क्रिश्मस डे( Christmas day ) के रूप में मनाया जाता है। ईसाई भाइयों का मानना है की आज के ही दिन ईसा मसीह का जन्म हुआ था और इसलिए इस दिन को उनके जन्म दिवस की खुसी पर एक बड़े पर्व के रूप में मनाया जाता है। ईसाईयों में यह मान्यता है की दुनिया के लोगों को प्रेम और मानवता का पाठ सीखने के लिए ईसा मसीह आज ही के दिन इस धरती में अवतरित हुए थे। सभी ईसाई धर्म के अनुयाई ईसा मसीह को ईश्वर की संतान मानते हैं और उन्हें अपना भगवान ( GOD) मानकर उनकी पूजा करते हैं।

ईसाई  देशों के अलावा भारत में भी इस त्यौहार को पुरे हर्ष उल्लास के साथ मनाया जाता है। भारत  सार्वभौमिक राष्ट्र है यहां हर धर्म का आदर और सम्मान किया जाता है। यही वजह है की भारत में हिन्दू धर्म के अलावा इस्लाम, सिक्ख और ईसाई धर्म को मानने वाले भी बड़ी संख्या में मौजूद हैं।  यहां सभी धर्म  का आदर किया जाता है। यही वजह है की विविधता में एकता के प्रतिक इस देश में हर धर्म के त्योहारों को महत्व देते हुए पूरा देश खुसी के रंग में रंग जाता है।

आइये जानते हैं की बॉलीवुड सितारों ने इस त्यौहार को सेलिब्रेट करने के लिए कैसी तैयारी कर रखी है। 

बॉलीवुड में  क्रिसमस का सेलिब्रेशन  25 दिसंबर से पहले ही शुरू हो जाता है। हमारे बॉलीवुड के सभी बड़े छोटे कलाकार एवं सुपरस्टार्स हर धर्म का आदर करते हैं और हर त्यौहार को बड़े ही धूम धाम से मानते हैं। इनकी खुसी और जश्न के माहौल को देखकर कोई अंदाज़ा भी नहीं लगा सकता है की कौन सा कलाकार किस धर्म का है।

 

वनडे एवं टी -20 क्रिकेट : ऑस्ट्रेलिया नूज़ीलैण्ड बनाम टीम इंडिया।

क्रिसमस  सेलिब्रेट करते हुए अपने जाने पहचाने अंदाज़ में किंग खान (शाहरुख खान ) का फोटो सामने आया है।  इस फोटो को शाहरुख की पत्नी गौरी खान ने अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर मैरी क्रिसमस लिखकर  शेयर किया है। यह तस्वीर शाहरुख के बंगले मन्नत की है। इस फोटो में शाहरूख अपने बेटे अबरार के साथ हाथ फैलाकर अपने जाने पहचाने अंदाज में खड़े हैं।

View image on Twitter

आइए जानते हैं बॉलीवुड के अन्य सितारे आज किस ख़ास तरीके से क्रिसमस सेलिब्रेट करने वाले हैं। 

 

सलमान खान की वांटेड गर्ल आइशा टाकिया का प्रियंका निक जोनस की रिसेप्शन में दिखा जल्वा।

एक्ट्रेस प्रियंका  चोपड़ा  अभी अपने लन्दन में हैं और अपने पति निक जोनस एवं ससुराल वालों के साथ क्रिसमस सेलिब्रेट कर रही हैं। उन्होंने अपने क्रिसमस सेलिब्रेशन की एक तस्वीर शेयर की है।

एक खबर के मुताबिक सलमान खान और आमिर खान ने भी क्रिसमस सेलिब्रेशन की पूरी तयारी कर ली है और क्रिसमस नाईट में धूम मचने वाले हैं। इन दोनों खान के क्रिसमस सेलिब्रेशन की कुछ तस्वीरें सामने आयी हैं, आप भी देखिए

 

बॉक्स ऑफिस पर फिल्म “zero” को दर्शकों ने दिया जीरो “0” मार्क्स।

Image result for salman khan christmas celebration

आप देख सकते हैं की कैसे इस रेड हेट में सलमान सांता के लुक में नज़र आ रहे हैं। इसी प्रकार मिस्टर परफेक्शनिस्ट आमिर खान ने भी अपने क्रिसमस सेलिब्रेशन की तस्वीर पोस्ट की है। देख सकते हैं की इस पिक में आमिर खान पूरी तरह से सांता क्लॉज़ के रूप में नज़र आ रहे हैं।

 

आमिर खान ने खुद को ठहराया “ठग्स ऑफ़ हिन्दुस्तान” की नाकामी का ज़िम्मेदार

Image result for aamir khan christmas celebration

इन खूबसूरत तस्वीरों के साथ आप सभी पाठकों को हमारी तरफ से मैरी क्रिस्टमस।

दोस्तों इसी तरह की और भी रोचक ख़बरों के लिए इस न्यूज़ को फॉलो/ सब्सक्राइब करना न भूलें धन्यवाद्। 

25 December happy Christmas day : जानिये ईशु मसीह और क्रिसमस त्यौहार के बारे में .

नमस्कार दोस्तों,

दोस्तों, दुनिया भर में क्रिसमस त्यौहार की तैयारी पुरे जोरों शोरोंके साथ चल रही है। दोस्तों दुनिया भर में भारत देश एक धर्म निरपेक्ष देश के रूप में जाना जाता है। भारत ही एक मात्र ऐसा देश है जहां विभिन्न जाती धर्म और संप्रदाय के लोग ख़ुशी-ख़ुशी रहते हैं। दोस्तों जैसा की हम सभी जानते हैं की हर साल के 25 दिसंबर को हर ईसाई देश के साथ साथ भारत में भी क्रिसमस का त्यौहार बड़े ही जोर शोर के साथ मनाया जाता है। दोस्तों भारत में चार धर्म हिन्दू , मुश्लिम, सिक्ख और ईसाई इस देश को सम्हालने वाले चार स्तम्भ की तरह है जिसमे से हर किसी का एकसमान महत्व है। यही वजह है की क्रिसमस का त्यौहार सिर्फ एक धर्म की मान्यता मात्र नहीं बल्कि भारत के गौरवशाली इतिहास और इसकी अनेकता में एकता का सटीक उदाहरण भी है।

Image result for christmas news in hindi jansatta

आइये जानते हैं क्यों मनाया जाता है क्रिसमस का त्यौहार और हमारे ईसाई भाइयों के लिए इसका क्या धार्मिक महत्व है। 

क्रिसमस ईसाई धर्म के लोगों का प्रमुख पर्व है। यह पर्व पूरी दुनिया में फैले ईसा मसीह के करोड़ों अनुयाइयों के लिए पवित्रता और सम्पन्नता का सन्देश लेकर आता है। ईसाई धर्म में भगवान ( god ) माने जाने वाले प्रभु इशू की याद में यह क्रिसमस का पर्व प्रतिवर्ष 25 दिसंबर को मनाया जाता है। कहा जाता है की इसी दिन भगवान् ईसामसीह या जीसस क्राइस्ट का जन्म हुआ था। क्रिसमस पुरे विश्व में मनाए जाने वाले प्रमुख त्योहारों में से एक है। इस दिन के लिए  भारत सरकार की तरफ से एक दिवसीय छुट्टी घोषित की गई है ताकि देश की जनता इस धार्मिक पर्व को पूर्ण हर्ष -उल्लास एवं आपसी भाई चारे के साथ मना सके। इस दिन सभी सरकारी एवं गैरसरकारी स्कूल, कॉलेज एवं कार्यालय पूर्ण तया बंद रहते हैं।

क्रिसमस डे 25 दिसंबर 2018 : सभी ईसाई देशों में क्रिसमस की तैयारी एक महीने पूर्व ही शुरू कर दी जाती है। सभी ईसाई इस त्यौहार को 12 दिनों तक मनाते हैं। इस दिन को पूरी दुनिया में एक धार्मिक त्यौहार के रूप में मनाया जाता है। हर त्यौहार की तरह इस त्यौहार में भी छेत्रीय रंग जरूर दिखाई पड़ता है। देश, राज्य और स्थान के साथ त्यौहार मनाने का तरीका भी कुछ बदला हुआ प्रतीत होता है। इस दिन सभी ईसाई भाई अपने परिवार एवं रिश्तेदारों को पुरस्कार एवं क्रिसमस कार्ड बांटते हैं। परिजनों के बीच भोज का कार्य होता है। बच्चों को इस त्यौहार का बड़ी बेशब्री से इंतज़ार होता है। घर के बड़े बुज़ुर्ग सांताक्लॉज बनकर बच्चों को मनपसंद खिलौने और उपहार वितरण करते हैं।

Image result for christmas news in hindi jansatta

क्यों मनाया जाता है क्रिसमस का त्यौहार। 

आज के दिन महान ईसामसीह का जन्म हुआ था। क्रिसमस का त्यौहार महान ईसा मसीह की जयंती के रूप में मनाया जाता है। ईसा मसीह को ईसाई धर्म के लोग ईश्वर का पुत्र मानकर अपनी रिवाज़ों के अनुसार उनकी पूजा करते हैं। इस दिन को सभी ईसाई धर्म के अनुयाई एक सांस्कृतिक त्यौहार के रूप में मनाते है। लोग त्यौहार से पहले ही अपने घरों को फूलों से सजाते हैं। घर में क्रिसमस ट्री बनाकर उसे फूलों एवं सुंदर रंग बिरंगी लाइट्स से सजाते हैं। इस दिन प्रभु इशू के प्रतिक चिन्ह क्रॉस के आसपास कैंडल जलाकर उनको स्मरण किया जाता है।

अगर यह न्यूज़ आपको अच्छी लगी हो तो मुझे फॉलो करना न भूलें, धन्यवाद्। 

21 दिसंबर : जानिये आज के दिन घाटी सभी महत्वपूर्ण ऐतिहासिक घटनायें।

Image result for aaj ka itihasनमस्कार दोस्तों,

 

दोस्तों, यदि हम इतिहास के पन्नों को पलट कर देखें तो हर दिन और तिथि पर इतिहास में कुछ न कुछ महत्वपूर्ण घटनाओं का ज़िक्र निकल आएगा। एक बेहतर भविष्य बनाने के लिए अपने अतीत को जानना और उनसे सीखना बहोत जरुरी है। तो आइये जानते है की इतिहास में आज के दिन कौन कौन सी महत्वपूर्ण घटनाएं घटी हैं। 

 

कमरे में साथी एंकर, खाली शराब की बोतलें और न्यूज़ एंकर की संदिग्ध मौत। जानिये पूरी खबर।

प्रमुख घटनाएँ

 

साल 1784 को 21 दिसंबर के दिन जॉन जे नामक सख्स को अमेरिका का पहला विदेश मंत्री बनाया गया था। 

साल 1898 को आज ही के दिन रसायन शास्त्री पियरे और मेरी क्यूरी ने रेडियम की खोज की थी। 

सन 1910 में 21 दिसंबर के दिन इंग्लैंड के हुल्तान में कोयला खदान में हुए विस्फोट में 344 श्रमिकों की मौत हो गई थी।

1914 को 21 दिसंबर के ही दिन अमेरिका में पहली मूक हास्य फ़ीचरफिल्म “तिल्लीस पंचर्ड रोमांस” रिलीज हुई थी।

1921 में आज ही के दिन अमेरिकी उच्चतम न्यायलय ने धरना प्रदर्शन और काम रोकने को असंवैधानिक घोषित कर दिया था।

 

महिला ने गूगल पर किया एक सर्च और खाते से उड़ गए एक लाख रुपये।

 

1923 को 21 दिसंबर के दिन ब्रिटेन के संरक्षित राज्य के दर्जे से मुक्त होकर नेपाल पूर्ण स्वतंत्र देश बना।

1931 में आज ही के दिन अर्थर वेन का बनाया दुनिया का पहला क्रॉसवर्ड न्यूयॉर्क वर्ल्ड अख़बार में प्रकाशित हुआ था।

साल 1937 में 21 दिसंबर के ही दिन रंगीन चित्रों और आवाज वाली पहली कार्टून फिल्म – डिगनीस स्नो व्हाइट का प्रदर्शन किया गया था।

1949 को आज ही के दिन पुर्तगाली शासकों ने इंडोनेशिया को संप्रभु राष्ट्र घोषित किया था।

साल 1952 को 21 दिसंबर के दिन सैफुद्दीन किचलू तत्कालीन सोवियत संघ का लेनिन शांति पुरस्कार पाने वाले पहले भारतीय थे।

 

आईपीएल में धूम मचाने आ रहा है यह रिकॉर्डधारी युवा खिलाड़ी.

 

1962 में आज ही के दिन अमेरिकी राष्ट्रपति जॉन ऍफ़ केनेडी और ब्रितानी प्रधानमंत्री हैरल्ड मैकमिलन ने बहामास  बातचीत के बाद एक बहुआयामी नैटो परमाणु बल बनाने का फैसला किया था।

1962 – अमरीकी राष्ट्रपति जॉन एफ़ कैनेडी और ब्रितानी प्रधानमंत्री हैरल्ड मैकमिलन ने बहामास में बातचीत के बाद एक बहुआयामी नैटो परमाणु बल बनाने का फैसला किया।

आज ही के दिन साल 1922 में एतुबवा अम्रम जन्म हुआ था जो की एक नॉर्बिआई पादरी और राजनेता थे।

साल 2011 में आज ही के दिन  पी के अयंगर का निधन हुआ था जो की देश के प्रसिद्ध न्यूक्लियर फिजिसिस्ट थे।

 

 

राफेल डील पर मोदी ने सुप्रीम कोर्ट से बोला झूठ, पकड़े जाने पर कहा सुप्रीम कोर्ट की समझ में गलती।

 

दोस्तों आपको यह जानकारी कैसी लगी मुझे कमेंट करके जरूर बताएं और इस न्यूज़ को फॉलो / सब्सक्राइब करना न भूलें, धन्यववाद। 

छत्तीसगढ़ : कौन बनेगा मुख्यमंत्री।

Image result for chattisgarh ke naye mukhyamantri ke liye congress pratyashiनमस्कार दोस्तों,

दोस्तों जैसा की हम सभी जानते हैं की साल के अंत में हुए पांच राज्यों  के विधान सभा चुनाव के नतीजे आ चुके हैं और इस परिणाम ने भाजपा के कमल को पूरी तरह  से मुरझा दिया है। पांच राज्यों में से तीन में कांग्रेस की सरकार बनने जा रही है। कांग्रेस ने भाजपा को छत्तीसगढ़ और राजस्थान में धूल चटा दिया जबकि मध्यप्रदेश में मुकाबला कांटे का रहा। फिर भी इन तीनों राज्यों में कांग्रेस ने अपना बहुमत साबित कर किया है और अब यहां कांग्रेस की सरकार बनने जा रही है।

राहुल की राफेल का टूट गया कनेक्शन, हो रही क्रैश लैंडिंग।

 

Image result for chattisgarh ke naye mukhyamantri ke liye congress pratyashi

यह पहली बार हुआ है की जिस पार्टी ने बहुमत हासिल की उसने अभी तक अपना मुख्यमंत्री का चेहरा ही तय नहीं किया है। सायद इस  जीत की उम्मीद कांग्रेस को भी नहीं थी यही वजह है की छत्तीसगढ़ में पूर्ण बहुमत मिलने के बावजूद कांग्रेस अभी तक यह तय नहीं कर पाई है की छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री पद के लिए किसे चुना जाए। विधानसभा चुनाव के परिणामों की घोषणा हुए आज चार दिन बीत चुके हैं पर अभी भी मुख्यमंत्री के नाम को लेकर कांग्रेस असमंजस की स्थिति में है।

सरकार ने की कपल्स से अपील, देर मत करो बच्चे पैदा करो।

Image result for chattisgarh ke naye mukhyamantri ke liye congress pratyashi

पार्टी प्रवक्ताओं और मुख्यमंत्री पद के प्रबल दावेदारों ने इस फैसले को कांग्रेस पार्टी के सुप्रीमो राहुल गांधी पर छोड़ दिया है। छत्तीसगढ़ में शनिवार याने की आज कांग्रेस विधायक दल की बैठक बुलाई गई है। ऐसा कहा जा रहा है की यह बैठक मुख्यमंत्री का चेहरा तय करने के लिए बुलाई गई है और आज शाम पांच बजे रखी गई इस बैठक के बाद ही उस नाम को भी सार्वजनिक कर दिया जाएगा की वह कौन शख्स है जो अगले पांच साल तक छत्तीसगढ़  की दशा और दिशा तय करेगा। आइये जानते हैं की कौन कौन है कांग्रेस की और से मुख्यमंत्री पद के लिए प्रबल दावेदार… … …

जानिए बॉलीवुड की पांच सबसे खूबसूरत पर नाकाम एक्ट्रेसेस के बारे में। नं 1 है सबसे खूबसूरत

1 . भूपेश बघेल 

भूपेश बघेल छत्तीसगढ़ कांग्रेस के सबसे चर्चित  चेहरे हैं और मुख्यमंत्री पद के सबसे दमदार दावेदार भी। पिछले 15 सालों से छत्तीसगढ़ में सूखे की मार झेल रही कांग्रेस पार्टी को छत्तीसगढ़ में मिली इस पूर्ण बहुमत के साथ अविस्वसनीय जीत का सारा श्रेय भूपेश बघेल को ही जाता है। वर्तमान में भूपेश बघेल पाटन सीट से विधायक है। हलाकि एक चर्चित सीडी काण्ड ने उनकी छबि को काफी धूमिल किया है पर अभी भी वे सीएम की रेस में सबसे  आगे हैं।

2. ताम्रध्वज साहू

ताम्रध्वज साहू जी छत्तीसगढ़ में कांग्रेस के चर्चित पुराने चेहरों में से एक है। दुर्ग जिले से विधायक ताम्रध्वज साहू भी छत्तीसगढ़ में सीएम पद के लिए अपनी दावेदारी जता रहे हैं।

3. चरणदास महंत 

चरणदास महंत सत्ती विधानसभा सीट से विधायक हैं और छत्तीसगढ़ मुख्यमंत्री पद के लिए दावेदारी रखते हैं।

4. त्रिभुनेश्वर शरण सिंहदेव 

मौजूदा विधानसभा चुनाव में विपक्ष के नेता है त्रिभुवनेश्वर शरण सिंहदेव। इन्हे टी एस बाबा के नाम से भी जाना जाता है। सरगुजा के राजपरिवार से सम्बन्ध रखते हैं।

ईशा अम्बानी की शादी की इन यादगार लम्हों के बारे में आपको जरूर जानना चाहिए।

 

आज शाम 5 बजे होने वाली कांग्रेस की बैठक पर सभी की नज़र टिकी हुई है। अब देखना यह है की इस मीटिंग में किसके नाम पर मुहर लगती है और कौन बनते है छत्तीसगढ़ के नए मुख्यमंत्री।

दोस्तों यदि आपने अभी तक इस न्यूज़ को फॉलो/सब्सक्राइब नहीं किया है तो अभी करलें ताकि जरुरी ख़बरें आपतक पहुँचती रहे। धन्यवाद्। 

सरकार बनने से पहले ही कांग्रेस ने शुरू कि किसानों की कर्ज माफी की तैयारी.

Image result for chattisgarh me kisanon ki karz maafi

 

नमस्कार दोस्तों,

रायपुर : छत्तीसगढ़ में 15 सालों तक सत्ता विहीन रहने के बाद, 15 वर्ष बाद मिले पूर्ण महूमत से कांग्रेस  पार्टी का आत्मविश्वास चरम पर है। पर यह जनता के लिए गर्व की बात है की जित की खुसी में कांग्रेस मोदी सरकार की तरह अपना वादा नहीं भूली। कांग्रेस ने विधान सभा चुनाव से पूर्व छत्तीसगढ़ की जनता से यह वादा किया था की यदि उनकी सरकार बनती है तो वे सत्ता में आते ही सबसे पहले छत्तीसगढ़ के किसानों की क़र्ज़ माफ़ी के लिए कार्य करेंगे। 

जानकारी मिल रही है की छत्तीसगढ़ में पूर्ण बहुमत से जीत मिलने के बाद राज्य शासन के अधिकारियों ने किसानों की कर्ज माफी की तैयारियां शुरू कर दी हैं. राज्य सरकार के अधिकारियों से मिली जानकारी के अनुसार सहकारिता विभाग के उप सचिव श्री पीएस सर्पराज ने संचालक, संस्थागत वित्त संयोजक, राज्य स्तरीय बैंकर्स कमेटी और प्रबंध संचालक छत्तीसगढ़ राज्य सहकारी बैंक को एक पत्र लिखकर किसानों की ऋण माफी योजना को लागू करने के लिए सभी अहम जानकारी मांगी है.

 

पत्र में लिखा गया है कि भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस द्वारा अपने जन घोषणा पत्र में सरकार बनने के 10 दिनों के भीतर किसानों का कर्ज माफ करने की घोषणा की गई है. इस घोषणा की पूर्ति के लिए किसानों की ऋण माफी योजना तैयार किया जाना है. अधिकारियों से कहा गया है कि उनके अधीन कार्यरत बैंकों द्वारा किसानों को वितरित कृषि ऋण और बकाया राशि की पूरी जानकारी 30 नवंबर की स्थिति के अनुसार उपलब्ध करने की मांग की है। 

रजनीकांत की ‘2.0’ के बाद नया धमाका, डैशिंग अंदाज में दिखे रजनीकांत.

राज्य में विधानसभा चुनाव के दौरान कांग्रेस ने अपनी सरकार बनने पर किसानों का ऋण माफ किए जाने का वादा किया था. वहीं कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा था कि सरकार बनने के 10 दिनों के भीतर किसानों का कर्ज माफ किया जाएगा. कांग्रेस ने इसके साथ ही धान का समर्थन मूल्य 25 सौ रूपए प्रति क्विंटल करने का भी वादा किया था। 

छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव में 90 सीटों में से कांग्रेस ने 68 सीटों पर पूर्ण बहुमत से जीत हासिल की है जबकि भारतीय जनता पार्टी को केवल 15 सीटों पर जीत मिली है. जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ को पांच सीटें तथा बहुजन समाज पार्टी को केवल दो ही सीटों पर जीत हासिल हुई है।  राज्य में 15 वर्षों के बाद कांग्रेस एक बार फिर सत्ता में आ रही है. 

जानिये कांग्रेस की उम्मीद और सबसे युवा नेता सचिन पायलट के बारे में।

Image result for sachin pilotनमस्कार दोस्तों,

लगातार मिल रही हार और गिरती लोकप्रियता से क्रैश लैंडिंग कर रहे कांग्रेस नुमा जहाज को गिरने से बचाने और सफलता की ऊंचाई पर एक नई उड़ान भरने के लिए तैयार करने वाले सचिन पायलट के लिए ऐसा कर पाना किसी बड़ी चुनौती से कम नहीं। लेकिन अपने शांत स्वाभाव के लिए जाने जाने वाले यह युवा नेता, पार्टी के अंदर चल रहे इन अंतर्विरोधों से निपटने के लिए पूरी तरह तैयार है।

सचिन पायलट का जन्म उत्तर प्रदेश के सहारनपुर में हुआ और वे नोएडा के वैदपुरा गांव के निवासी हैं। पायलट को राजनीति अपने पिता से विरासत में मिली है. उनके पिता राजेश पायलट पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी के बेहद करीबी नेता और एक केंद्रीय मंत्री थे, जबकि सचिन अब कांग्रेस की ओर से प्रधानमंत्री पद के स्वाभाविक उम्मीदवार राहुल गांधी के सबसे विश्वास पात्र हैं।

विधान सभा चुनाव विश्लेषण : कांग्रेस को जिताने में बीजेपी की मेहनत.

आइये जानते हैं सचिन पायलट के जीवन से जुड़ी  कुछ निजी बातें और समझते हैं इस युवा के व्यक्तित्व को….

सचिन पायलट अपने काम में किसी भी प्रकार की देरी बिलकुल भी पसंद नहीं करते. नए विचारों को खुले मन से सुनने और समझने की क़ाबलियत रखने वाले कॉर्पोरेट मामलों के केंद्रीय मंत्री और राजस्थान प्रदेश कांग्रेस के नवनियुक्त अध्यक्ष हैं सचिन पायलट। सचिन अगर कुछ करने की ठान लेते हैं तो उन्हें डिगाना बहोत ही कठिन कार्य हो जाता है।  केंद्र में पहली बार संचार राज्यमंत्री का कार्यभार संभालने वाले पायलट के सामने एक दिलचस्प वाकया सामने  आया जब वे अरुणाचल प्रदेश के तवांग दौरे पर थे. इस घटना ने उन्हें नौकरशाही के दावपेच से निकलकर लोगों से काम कराने का हुनर सीखा गया। 

छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव परिणाम 2018 : कांग्रेस को वेलकम बीजेपी को बाय बाय।

बात तब की है जब सचिन पायलट, सीमा सुरक्षा बल के जवानों को सैटेलाइट फोन बांटने गए थे. सैटेलाइट फोन लेते वक्त एक जवान ने उनसे  कहा, ”सर थैंक्यू वेरी मच. लेकिन यह हम लोगों को बहुत ही महंगा पड़ता है.” उस जवान ने बताया कि केवल एक मिनट बात करने के 50 रु. देने पड़ते हैं. यह सुनकर सचिन के मन में सवाल उठा कि दिल्ली में बैठकर आम लोग एक मिनट के लिए केवल चवन्नी देते हैं और 10,000 रु. महीने तनख्वाह पाने वाला सीमा पर तैनात जवान जो बर्फ में खड़े होकर गोलियां खा रहा है, उसे अपने घर बात करने के लिए 50 रु. प्रति मिनट देने पड़ रहे हैं जो की गलत है। 

रजनीकांत की ‘2.0’ के बाद नया धमाका, डैशिंग अंदाज में दिखे रजनीकांत.

दिल्ली पहुंचकर पायलट ने अधिकारियों को इस दर में कटौती के आदेश दिए. लेकिन पायलट बताते हैं, ”अधिकारी फाइल को इधर-उधर घुमाते हुए नखरे दिखाने लगे तब मैंने फौरन तत्कालीन गृह मंत्री पी. चिदंबरम से मिलकर लिखित मंजूरी ले ली. फिर भी अधिकारी काम करके नहीं दे रहे थे. और आदतन काम को ताल रहे थे।”

यह पायलट की कोशिशों का ही नतीजा है की 50 रु. की कॉल दर 5 रु प्रति मिनट हो गई. वे कहते हैं, ”हमारे चार लाख अर्द्धसैनिक बलों के लोग हैं. इन सभी के लिए कॉल दर 1 अप्रैल, 2011 से 5 रु. प्रति मिनट कर दिए गए। 

अभिनेता रजनीकांत के जन्म दिन पर जानिये उनके बस कंडक्टर से सुपरस्टार बनने तक का सफर।

अक्सर कुर्ता-पायजामा और सर्दियों में हाफ जैकेट पहनने वाले 36 वर्षीय पायलट का नए आइडिया को लेकर बहुत स्पष्ट सोच है. उनका मानना है, ”योजना फेल होने के डर से पहल ही नहीं करना अच्छी बात नहीं है. सचिन की यही सोच उन्हें अब तक के राजनैतिक करियर में बेदाग रखे हुए है, जबकि संचार मंत्रालय में उन्होंने २जी घोटाले के आरोपी पूर्व केंद्रीय संचार मंत्री ए. राजा के साथ बतौर राज्यमंत्री काम किया. हालांकि इस मसले पर पायलट कहते हैं, ”यह घोटाला मेरे पदभार के समय से पहले का है. इस मामले में अदालत अपना निर्णय करेगी, लेकिन हमारी सरकार ने कभी किसी आरोप पर कार्रवाई से संकोच नहीं किया.”

Image result for sachin pilot

सचिन विरासत की राजनीति पर कहते हैं, ”मैं नहीं समझता हूं कि बहुत ज्यादा फर्क पड़ता है कि कौन किस कोख से पैदा हुआ है, फर्क इससे पड़ता है कि आप अपने राजनैतिक जीवन में किस तरह से काम करते हैं. कितना आप लोगों को साथ लेकर चल सकते हैं क्योंकि हर व्यक्ति किसी न किसी धर्म-जाति से बंधा हुआ है.”

प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने स्वीकार ली अपनी हार. राहुल गाँधी को दी जीत की बधाई। 

जमीनी नेता को किस तरह काम करना चाहिए, यह उन्होंने अपने पिता से सीखा है. पायलट कहते हैं, ”मेरे पिताजी कहा करते थे कि दिल्ली में सरकार ने हमें यह बंगला इसलिए दिया है कि यहां हम लोगों को बिठाकर बात कर सकें, उन्हें लगना चाहिए कि उनकी बात सुनने वाला कोई है.”

 

इस सीख को अपने राजनैतिक जीवन में पायलट ने भी साकार किया है. सुबह 7 बजे उठकर चाय की चुस्की के साथ अखबार पढऩा और 2-3 घंटे आम लोगों से मिलना उनका रुटीन है. समय मिलने पर कभी-कभार व्यायाम भी कर लेते हैं. खाने में राजमा-चावल उन्हें इस कदर पसंद है कि बचपन में वे कई बार लगातार हफ्ते भर तक इसे खाते थे. 

शर्दियों की छुट्टियां मानाने के लिए जाएं इन पांच खूबसूरत जगह. होगी स्वर्ग की अनुभूति।

धर्म में उनकी बहुत रुचि नहीं है. वे बताते हैं, ”मैं बहुत ज्यादा कर्मकांड में विश्वास नहीं करता. लेकिन मेरी मां होली-दीवाली भजन या पूजा कराती हैं तो मैं वहां चुपचाप जरूर बैठ जाता हूं.” लेकिन पायलट को फिल्म देखने का बहुत शौक है. हालांकि यहां भी वे जल्दबाजी नहीं दिखाते, बल्कि पहले हफ्ता-दस दिन इंतजार करते हैं और उस फिल्म की बहुत चर्चा होती है तो ही देखते हैं.

लेकिन उन्हें घर में बैठकर फिल्म देखना पसंद नहीं, बल्कि जब भी फिल्म देखने का मन हुआ पायलट किसी भी मॉल के सिनेमा हॉल में चले जाते हैं. कॉलेज के समय शूटिंग के अलावा बैडमिंटन, क्रिकेट, फुटबॉल के शौकीन पायलट ने 4-5 साल तक नेशनल स्तर पर शूटिंग में अवार्ड हासिल किए हैं. 

10 दिसंबर 2018 : आरबीआई के गवर्नर उर्जित पटेल ने निजी कारणों का हवाला देकर दिया इस्तीफा

दिल्ली यूनिवर्सिटी के सेंट स्टीफंस कॉलेज से ग्रेजुएशन और अमेरिका के व्हार्टन स्कूल से एमबीए करने के बाद पायलट ने बीबीसी के दिल्ली ब्यूरो में काम किया. उसके बाद वे जनरल मोटर्स में भी दो साल नौकरी कर चुके हैं. लेकिन 6 सितंबर, 2012 को वे अपनी जिंदगी का महत्वपूर्ण क्षण मानते हैं जब 6-8 महीने की कड़ी मेहनत और परीक्षा के बाद उन्हें टेरीटोरियल आर्मी में लेफ्टिनेंट का पद मिला.

26 साल की उम्र में सांसद बनकर देश के सबसे युवा सांसद का खिताब पा चुके पायलट उस दिन देश के पहले केंद्रीय मंत्री बन गए जो टेरीटोरियल आर्मी में नियमित रूप से जुड़े. वे इसे अपने पिता का सपना बताते हैं. हालांकि पिता के असामयिक देहांत का जख्म आज भी उनके जेहन में हरा है. पायलट कहते हैं, ”बहुत कठिन समय रहा परिवार के लिए. हमेशा जख्म हरे से रहते हैं.”

नेहा कक्कड़ और हिमांश कोहली के रिश्ते में आई दरार, क्या हो गए हैं एक-दूसरे से अलग?

पायलट का विवाह भी राजनैतिक सुर्खियों में रहा था. 2004 में उनकी शादी जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री और मौजूदा केंद्रीय मंत्री फारूक अब्दुल्ला की बेटी सारा से हुई. दोनों का मजहब अलग होने की वजह से स्वाभाविक दिक्कतें आईं, लेकिन उन्होंने इसे सहजता से पार किया. वे अपने इसी संबंध की वजह से जम्मू-कश्मीर में कांग्रेस-एनसी गठबंधन सरकार की धुरी बने.

अब तक अपनी राजनीतिक सोंच और समझ से तेज़ी से आगे बढ़ रहे पायलट की चुनौती राजस्थान प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष बनने के बाद से काफी बढ़ गई है. राहुल गांधी ने कांग्रेस उपाध्यक्ष के रूप में पार्टी की कमान संभालने के बाद से युवा नेतृत्व पर फोकस किया है. सचिन उसी कड़ी के एक अहम् अंग माने जाते हैं. उनके मुताबिक, ”परिवर्तन सिर्फ एक व्यक्ति का नहीं, बल्कि एक सोच में भी है कि पार्टी को एक नए सांचे में ढालना है. इसके चलते जमीनी स्तर पर लोगों को रि-कनेक्ट करना है ताकि पार्टी की सोच को अधिक से अधिक लोगों तक पहुँचाया जा सके और अधिक लोगों को पार्टी से जोड़ा जा सके।

ऑस्ट्रेलिया टेस्ट में भारतीय टीम हो रही गलत अम्पायरिंग का शिकार

Image result for sachin pilot

लेकिन यह बदलाव राजस्थान में कितना कारगर होगा? वसुंधरा सरकार के खिलाफ कांग्रेस के प्रदर्शन में भीड़ का न जुटना और अब सरदारशहर सीट से कांग्रेस विधायक भंवरलाल शर्मा की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे से मुलाकात के बाद सोनिया गांधी और राहुल गांधी के खिलाफ बोलना यह साबित करता है कि पायलट की राह आसान नहीं है. अब जब कांग्रेस राजस्थान में एक बार फिर सत्ता में आ रही है तो अब देखना यह है की सचिन पायलट, कांग्रेस को सही राजनैतिक उड़ान कैसे दे पाते है और इसकी जनता के बीच लैंडिंग किस प्रकार करते हैं। 

प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने स्वीकार ली अपनी हार. राहुल गाँधी को दी जीत की बधाई।

पीएम नरेंद्र मोदी (फोटोः ट्विटर)

नमस्कार दोस्तों,

बचे हुए पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव हुए थे जिनके आज परिणाम सामने आये है।  जिसमें 4 राज्यों में यह साफ़ हो चूका है की किसकी सरकार बन रही है।  छत्तीसगढ़ और राजस्थान में कांग्रेस पूर्ण बहुमत के साथ अपनी सरकार बनाने जा रही है जबकि मध्य प्रदेश का परिणाम अभी भी साफ़ नहीं हो पाया है की बहुमत किसे मिलेगी। मध्यप्रदेश में कांग्रेस और भाजपा दोनों ही पार्टी के बीच कांटे की टक्कर जारी है।  तेलंगाना में टीआरएस को प्रचंड बहुमत मिला है।  वहीं मिजोरम में मिजो नेशनल फ्रंट पूर्ण बहुमत के साथ सरकार बनाने जा रही है. इन चुनावों को 2019 के लोकसभा चुनाव का सेमीफाइनल माना जा रहा था. ऐसे में विधान सभा चुनाव के परिणामों को मोदी सरकार की बड़ी हार के रूप में देखा जा रहा है. पीएम नरेंद्र मोदी ने भी अपनी हार स्वीकार कर ली है और जीतने वाली पार्टियों को बधाई दी है. वहीं वित्त मंत्री अरूण जेटली का कहना है कि लोकसभा के चुनाव केंद्र सरकार की परफार्मेंस और नरेंद्र मोदी के व्यक्तित्व के दम पर लाडे जाएंगे।

नरेंद्र मोदी ने दी कांग्रेस और अन्य विजेता पार्टियों को बधाई। 

कांग्रेस को जीत के लिए बधाई। तेलंगाना में प्रचंड बहुमत के लिए केसीआर को बधाई और मिजोरम में जीत के लिए एमएनएफ को बधाई: नरेंद्र मोदी, प्रधानमंत्री

पीएम मोदी ने बधाई देते हुए कहा कि ‘हम जनादेश को विनम्रता से स्वीकार करते हैं. मैं सेवा का अवसर देने के लिए छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश और राजस्थान की जनता का शुक्रिया अदा करता हूं. बीजेपी ने इन राज्यों में जनता के कल्याण के लिए अथक प्रयास किया.’ : नरेंद्र मोदी, प्रधानमंत्री

इस दौरान पीएम मोदी ने बीजेपी के कार्यकर्ताओं का शुक्रिया अदा किया. उन्होंने कहा, ‘विधानसभा चुनाव के लिए बीजेपी कार्यकर्ताओं के परिवारों ने रात-दिन काम किया. मैं इनके कठिन परिश्रम को सैल्यूट करता हूं. जीत और हार जिंदगी का अभिन्न हिस्सा है. आज के नतीजे लोगों की सेवा करने और भारत के विकास के लिए कठिन परिश्रम करने के हमारे संकल्प को आगे बढ़ाएंगे.’